Tuesday , September 28 2021

धनकुबेर निकला पटना का इंजीनियर, नोट गिनने के लिये मंगानी पड़ी मशीन

बिहार में भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ निगरानी विभाग की कार्रवाई लगातार जारी है, इसी कड़ी में निगरानी विभाग की टीम ने पथ निर्माण विभाग के इंजीनियर कौन्तेय कुमार के 3 ठिकानों पर मंगलवार को छापेमारी की है, आय से अधिक संपत्ति के मामले में की गई छापेमारी का नेतृत्व डीएसपी स्तर के अधिकारी कर रहे हैं, निगरानी विभाग की इस छापेमारी में कई हैरान करने वाली बातें सामने आई है।

क्या-क्या मिला

छापेमारी टीम ने पटना के सदाकत आश्रम के पास स्थित अपार्टमेंट नित्यानंद एन्क्लेव के फ्लैट नंबर 403 में छापेमारी कर 15 लाख नकद, आधा किलो सोना, 1 किलो चांदी के जेवरात बरामद किये, जिसकी कीमत करीब 34 लाख रुपये बताई जा रही है। रिपोर्ट के मुताबिक नोट गिनने के लिये अधिकारियों को मशीन मंगानी पड़ी, इसके अलावा इंजीनियर के बैंक में दो लॉकरों का भी पता चला है, जिसे ऑपरेशन के दौरान फ्रीज किया गया है, जांच के दौरान पता चला है कि कौन्तेय कुमार ने अपने और अपनी पत्नी के नाम पर 4 जमीन के दस्तावेज जिसमें एक बोरिंग रोड पटना स्थित कृष्णा अपार्टमेंट के सी ब्लॉक में 8वें मंजिल पर फ्लैट नंबर 82 और 83 को मिलाकर एक लग्जरी अपार्टमेंट बनाया जा रहा है।

करोड़ों में कीमत

सिर्फ इसकी कीमत ही करोड़ों में आंकी जा रही है, इसके अलावा निगरानी टीम ने एसबीआई लाइफ, आईडीएफसी, एलआईसी, रॉयल सुंदरम जेनरल इंश्योरेंस, बजाज अलायंस, एचडीएफसी लाइफ, टाटा एआईए, एक्सिस एमएफ, आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल इंवेस्को एमएफ, निपोन्नइंडिया, यूटीआई, केयर हेल्थ कोटक लाइफ, बिरला कैपिटल कुल मिलाकर 30 से ज्यादा पॉलिसी और इनवेस्टमेंट का पता चला है, निगरानी विभाग की टीम ने इंजीनियर के खिलाफ 1.76 करोड़ से अधिक आय से अधिक संपत्ति का केस दर्ज किया है।

पटना में तैनात

निगरानी थाना कांड संख्या 038/2021 14 सितंबर को दर्ज किया गया है, कौन्तेय कुमार अभी पथ निर्माण विभाग पटना सिटी रोड डिवीजन गुलजारबाग में तैनात हैं, निगरानी विभाग की टीम ने जानकारी दी है कि कौन्तेय कुमार द्वारा सरकार को समर्पित वार्षिक संपत्ति विवरणी में कई निवेशों का उल्लेख नहीं किया है, जांच में निवेश संबंधी अभिलेखों के अवलोकन और अधिक संपत्ति अर्जित किये जाने की सूचना जाहिर की गई है।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति