Thursday , October 28 2021

दिल्ली के एक हाईफाई होटल में महिला मॉडल के काट दिए ज्यादा बाल, दो साल बाद कोर्ट ने ₹2 करोड़ देने को कहा

नई दिल्ली। दिल्ली की उपभोक्ता अदालत ने एक अजीबोगरीब फैसला सुनाते हुए आईटीसी मौर्य (ITC Maurya) को आदेश दिया है कि वो उस मॉडल को 2 करोड़ रुपए का मुआवजा दें जिसके बाल उनके यहाँ हेयरस्टाइलिस्ट ने खराब काटे और उसके कारण उसे मानसिक आघात हुआ।

मॉडल को हुई मानसिक तंगी के लिए राष्ट्रीय उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग (एनसीडीआरसी) ने मंगलवार को (21 सितंबर) अपना यह आदेश जारी किया। इस आदेश में ही महिला को 2 करोड़ रुपए देने की बात कही गई है। मामले में सुनवाई करते हुए राष्ट्रपति न्यायमूर्ति आरके अग्रवाल और सदस्य एसएम कांतिकर की दो सदस्यीय पीठ ने कहा,

“इसमें कोई संदेह नहीं है कि महिलाएँ अपने बालों के संबंध में बहुत सतर्क और सावधान रहती हैं। बालों को अच्छा रखने के लिए वह अच्छी-खासी रकम खर्च करती हैं। वे भावनात्मक रूप से अपने बालों से भी जुड़ी होती हैं।”

इसके बाद कोर्ट ने आईटीसी मौर्य को उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम के तहत उनकी सर्विस में कमी के लिए शिकायतकर्ता आशना रॉय को 8 सप्ताह के भीतर 2 करोड़ का मुआवजा देने को कहा। आयोग ने कहा कि दूसरा पक्ष (होटल) बालों के उपचार में चिकित्सीय लापरवाही का दोषी है। उसकी (मॉडल) खोपड़ी तक जल गई थी और स्टाफ की गलती के कारण उसे सिर में अब तक खुजली है।

कथिततौर पर रॉय ने कोर्ट में शिकायत दी थी कि उन्हें इस घटना के बाद मानसिक आघात हुआ और उन्होंने खुद को शीशे में देखना भी छोड़ दिया था। इसके अलावा वो अलग सामाजिक गतिविधियों से दूर हो गईं थी वो भी सिर्फ इतने घटिया हेयरकट और उसके बाद आई दिक्कतों की वजह से।

पीठ ने कहा, “उसने खुद को आईने में देखना बंद कर दिया … और उसकी सामाजिक गतिविधियाँ भी बंद हो गईं। वह एक कम्यूनिकेशन वाले पेशे से है और उसे बैठकों और मेलजोल वाले सत्रों में शामिल होना आवश्यक है। लेकिन अपने छोटे बालों के कारण उसने अपना आत्मविश्वास खो दिया। घटिया बाल कटवाने के बाद मानसिक रूप से टूट जाने और उसके बाद कष्टप्रद बालों के उपचार के कारण उसे आय का नुकसान भी हुआ है। उसने अपनी नौकरी भी छोड़ दी।”

उपभोक्ता अदालत की बेंच ने कहा, “शिकायतकर्ता, अपने लंबे बालों की वजह से हेयर प्रोडक्ट्स के लिए एक मॉडल रही है और उसने पैंटीन और वीएलसीसी जैसे बड़े ब्रांडों के लिए मॉडलिंग की है। लेकिन उसके निर्देशों के खिलाफ बाल काटने के कारण … उसने अपने अपेक्षित काम खो दिए और एक बड़ा नुकसान हुआ जिसने उसकी जीवन शैली को पूरी तरह से बदल दिया और एक शीर्ष मॉडल बनने के उसके सपने को तोड़ दिया।”

क्या है मामला?

42 वर्षीय शिकायतकर्ता एक जरूरी इंटरव्यू से पहले 18 अप्रैल, 2018 को होटल के सैलून में बाल कटवाने गई थी। उसने हेयरड्रेसर को समझाया कि उसे बाल 4 इंच ट्रिम कराने है और आगे से फ्लिक चाहिए। लेकिन इतना समझाने के बावजूद हेयरड्रेसर ने उसके लंबे बाल काटे। महिला के मुताबिक वो चश्मा पहनती थी जिसे बाल काटने के दौरान उसे उतरवा दिया गया था और नाई ने उसका सिर भी झुका दिया था। जब बाल कटने के बाद उसने खुद को आईने में देखा तो बाल पूरे कट गए थे।

उसे आश्चर्य हुआ कि इतना समझाने के बाद भी उसके बाल पूरे काट दिए गए और ऊपर से केवल 4 इंच छोड़े गए कि बहुत मुश्किल से वो उसके कंधों को छू रहे थे। महिला के बहुत नाराजगी दिखाने पर होटल में उससे इस सर्विस का कोई चार्ज नहीं लिया गया और दूसरा उस हेयरड्रेसर पर गुस्सा निकाला गया जिसने ये लापरवाही की थी। महिला की शिकायत में ये भी था कि सैलून वालों ने उसके साथ बदसलूकी की। इसके बाद होटल के तत्कालीन सीईओ को बुलाकर मामले की जानकारी दी गई और मामला तब खत्म किया गया। बाद में केस कोर्ट में आया।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति