Tuesday , October 19 2021

इस्तीफे के बाद अलग रंग में कैप्टन अमरिंदर सिंह, NDA के साथियों को दी डिनर पार्टी

पंजाब के सीएम पद से इस्तीफा दे चुके कैप्टन अमरिंदर सिंह इन दिनों राजनीति से थोड़ी दूरी बनाकर अपने परिवार तथा पुराने दोस्तों के साथ फुर्सत के पल बिता रहे हैं, शनिवार शाम को कैप्टन ने मोहाली स्थित अपने मोहिंदर बाग फार्म हाउस में उनके एनडीए बैचमैट्स (23वें तथा 24वें कोर्स) के लिये डिनर पार्टी का आयोजन किया।

पुराने साथियों से मुलाकात

इस दौरान कैप्टन अमरिंदर सिंह अपने पुराने साथियों के साथ काफी खुश नजर आये, उन्होने सभी का गले लगाकर स्वागत किया, तथा सेना के दिनों को याद किया, इस मौके पर कैप्टन अमरिंदर सिंह मस्ती भरे मिजाज में नजर आये, अपने पुराने दोस्तों के साथ उन्होने रात्रिभोज का लुत्फ उठाया।

गर्मजोशी से स्वागत

पंजाब के पूर्व सीएम को मेहमाननवाजी का काफी शौक है, 8 सितंबर को भी उन्होने टोक्यो ओलंपिक विजेताओं तथा एथलीट्स के लिये डिनर का आयोजन किया, रात्रिभोज का आयोजन मोहाली के सिसवां में फार्म हाउस में किया गया था, इस दौरान कैप्टन ने खुद खिलाड़ियों के लिये खाना बनाया, उन्हें परोसा भी, डिनर में पटियाला के पारंपरिक व्यंजनों को लेकर चिकन, भेड़ का मीट, पुलाव तथा जर्दा चावल थे, पंजाब के ओलंपिक मेडल विजेता खिलाड़ियों तथा नीरज चोपड़ा से किये गये वादे के अनुसार कैप्टन ने अपने हाथ से खाना बनाकर पार्टी दी थी, इस पार्टी में शामिल सभी खिलाड़ियों ने कैप्टन की कुकिंग की जमकर तारीफ भी की थी।

खाना बनाने के शौकीन

कैप्टन जहां पंजाब के दिग्गज नेता हैं, वहीं किचन किंग भी हैं, खास बात ये है कि पूर्व सीएम खाना बनाने के शौकीन हैं, उनके रिश्तेदारों और करीबियों को उनके हाथों के बनाये व्यंजन का स्वाद बेहद पसंद है, कहा जाता है कि फ्री समय में सीएम अपने घर की किचन में कोई रेसिपी बनाना पसंद करते हैं। बीते 18 सितंबर को कैप्टन ने सीएम पद से इस्तीफा दे दिया है, इस्तीफे का मुख्य कारण उनके तथा नवजोत सिंह सिद्धू के बीच चल रहे मतभेदों को माना जा रहा है, कैप्टन ने सिद्धू को डिजास्टर (आपदा) करार दिया था, इस्तीफे के बाद कैप्टन ने कहा था कि सिद्धू को सीएम बनाने का वो विरोध करेंगे, क्योंकि उनकी पाक सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा और पीएम इमरान खान से दोस्ती है।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति