Saturday , December 3 2022

UPSC CSE Result 2021 : दूसरे स्थान पर रहीं अंकिता ने कहा- महिला सशक्तिकरण पर काम करना चाहूंगी

संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) की सिविल सेवा परीक्षा-2021 में दूसरा स्थान हासिल करने वालीं अंकिता अग्रवाल ने सोमवार को कहा कि वह भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के अफसर के रूप में महिला सशक्तिकरण और प्राथमिक स्वास्थ्य सेवा के लिए काम करना चाहेंगी। भारतीय राजस्व सेवा (सीमा शुल्क और केंद्रीय उत्पाद शुल्क) की 2020 बैच की अधिकारी, अग्रवाल वर्तमान में हरियाणा के फरीदाबाद में राष्ट्रीय सीमा शुल्क, अप्रत्यक्ष कर और नारकोटिक्स अकादमी (एनएसीआईएन) में परिवीक्षा पर हैं।

उन्होंने अकादमी से फोन पर न्यूज एजेंसी ‘ से कहा, ”मैं दूसरा स्थान पाकर बहुत खुश हूं। मैंने आईएएस चुना है और सेवा में शामिल होने के बाद महिला सशक्तिकरण, प्राथमिक स्वास्थ्य और स्कूली शिक्षा क्षेत्रों के लिए काम करना चाहती हूं।”

संघ लोक सेवा आयोग द्वारा घोषित किए गए सिविल सेवा परीक्षा-2021 के नतीजे में शीर्ष तीन स्थान पर महिलाओं के रहने पर अग्रवाल ने कहा, ”यह मेरे लिए और पूरे देश के लिए बहुत गर्व की बात है कि महिलाओं ने परीक्षा में शीर्ष तीन स्थान प्राप्त किए हैं।”

श्रुति शर्मा ने परीक्षा में शीर्ष स्थान हासिल किया, जबकि तीसरा स्थान गामिनी सिंगला ने हासिल किया है। तैयारी और सफलता के मंत्र के बारे में पूछे जाने पर अग्रवाल ने कहा, ”मैं परीक्षा की तैयारी के लिए अधिक से अधिक घंटे देती थी। एक निश्चित संख्या में घंटे लगाने के बजाय, मैंने एक स्थायी अध्ययन कार्यक्रम बनाए रखने की कोशिश की।”

दिल्ली विश्वविद्यालय के सेंट स्टीफंस कॉलेज से अर्थशास्त्र (ऑनर्स) में स्नातक अग्रवाल ने अपने वैकल्पिक विषय के रूप में राजनीतिशास्त्र और अंतरराष्ट्रीय संबंध चुना था।

यूपीएससी ने कहा कि कुल 685 उम्मीदवारों – 508 पुरुषों और 177 महिलाओं ने परीक्षा उत्तीर्ण की और आयोग ने विभिन्न केंद्रीय सेवाओं में नियुक्ति के लिए उनकी सिफारिश की है। शीर्ष 25 उम्मीदवारों में 15 पुरुष और 10 महिलाएं शामिल हैं।

भारतीय प्रशासनिक सेवा, भारतीय विदेश सेवा और भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारियों का चयन करने के लिए यूपीएससी द्वारा हर साल सिविल सेवा परीक्षा तीन चरणों में आयोजित की जाती है जिसमें – प्रारंभिक, मुख्य और साक्षात्कार शामिल होता है।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published.