Tuesday , June 28 2022

इस खिलाड़ी को कहा जा रहा टीम इंडिया की हार का विलेन, साथी खिलाड़ी बचाव में उतरे

टीम इंडिया को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ गुरुवार को खेले गये पहले टी-20 मैच में सात विकेट से हार का सामना करना पड़ा, इस हार के लिये एक खिलाड़ी को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है, रासी वान डेर डुसेन को श्रेयस अय्यर द्वारा जीवनदान दिया जाना टीम इंडिया की हार का सबसे बड़ा कारण साबित हुआ है।

हार का विलेन

वान डेर डुसेन को 29 के स्कोर पर श्रेयस अय्यर ने आवेश खान की गेंद पर जीवनदान दिया था, जो भारत को महंगा पड़ा, वान डेर डुसेन ने 46 गेंदों में 75 रनों की नाबाद पारी खेली, डेविड मिलर ने 31 गेंदों में 64 रन बनाये, भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 4 विकेट पर 211 रन बनाये, लेकिन वान डेर डुसेन और डेविड मिलर के बीच नाबाद शतकीय साझेदारी की वजह से अफ्रीकी टीम 5 गेंद पहले ही लक्ष्य हासिल कर लिया।

बचाव में उतरे साथी खिलाड़ी

राखी वान डेर डुसेन को श्रेयस द्वारा जीवनदान दिया जाना भले ही दक्षिण अफ्रीकी टीम के लिये अच्छा रहा, लेकिन ईशान किशन का मानना है कि हार का ठीकरा इस पर फोड़ा नहीं जाना चाहिये, इस बारे में पूछने पर मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में ईशान ने कहा ये कहना गलत होगा, कि उस कैच छूटने की वजह से ही हम मैच हारे, ये सही है कि कैच लपकने से मैच जीते जाते हैं, लेकिन एक खिलाड़ी को दोषी ठहराना गलत होगा, हमें आकलन करना होगा कि गेंदबाजी या फील्डिंग में हमसे क्या गलतियां हुई।

अफ्रीका के पास अच्छे फिनिशर

ईशान किशन ने कहा कि हमें ये भी नहीं भूलना चाहिये कि दक्षिण अफ्रीका एक बेहतरीन टीम है, पिछले कुछ समय से वो शानदार प्रदर्शन कर रही है, वो अपनी पूरी मजबूत टीम लेकर यहां आये हैं, उनके पास बहुत अच्छे फिनिशर हैं, उन्हें जीत का श्रेय दिया जाना चाहिये,  ईशान ने ये भी स्वीकार किया कि बाकी 4 मैचों में इन दोनों बल्लेबाजों के खिलफ टीम इंडिया को खास रणनीति बनानी होगी। ईशान ने कहा कि मिलर ने आईपीएल वाले अपने फॉर्म को जारी रखा, अगर ये दोनों बल्लेबाज लय में हों, तो उन्हें रोकना बेहद मुश्किल होता है, निश्चित तौर पर हमें बाकी मैचों में उनके खिलाफ खास रणनीति बनानी होगी।

राहुल-रोहित विश्व स्तरीय बल्लेबाज
ऋतराज गायकवाड़ के साथ पारी की शुरुआत करने वाले ईशान किशन ने स्वीकार किया, कि नियमित सलामी बल्लेबाज केएल राहुल और रोहित शर्मा के लौटने के बाद उनके लिये मौका मिलना मुश्किल होगा, वो इसकी अपेक्षा भी नहीं करते,  उन्होने कहा कि राहुल और रोहित विश्व स्तरीय बल्लेबाज हैं, और इतने अनुभवी हैं, मैं इसकी अपेक्षा भी नहीं करता कि उनके लौटने पर मुझे पारी की शुरुआत करने का मौका मिलेगा, मेरा काम जब भी मौका मिले, अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना है, बाकी चयनकर्ताओं का काम है।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published.