Friday , August 12 2022

कन्हैया लाल का हुआ अंतिम संस्कार, हत्यारों को फांसी की मांग; आरोपियों से NIA की पूछताछ शुरू

उदयपुर। राजस्थान के उदयपुर में कन्हैया लाल का अंतिम संस्कार कर दिया गया। शहर में कर्फ्यू के बाद उनकी अंतिम यात्रा में भारी भीड़ जुटी। लोगों ने हत्यारों को फांसी दो…फांसी दो के नारे लगाए। पूरा शहर कन्हैया की हत्या के विरोध में बंद रहा। किसी भी हालात से निपटने के लिए भारी संख्या में सुरक्षाबल तैनात किया गया था। इससे पहले पोस्टमार्टम के बाद जब उनका शव घर ले जाया गया, तो घर में कोहराम मच गया। बिलखती पत्नी ने कहा कि हत्यारों को फांसी की सजा दी जाए। कन्हैया लाल की तालिबानी तरीके से हत्या के बाद पूरे शहर में पुलिस तैनात कर दी गई है। एक महीने के लिए पूरे प्रदेश में धारा 144 लागू की गई है। गृहमंत्रालय के निर्देश के बाद राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने आरोपियों से पूछताछ शुरु कर दी है।

कन्हैया लाल की नृशंस हत्या की जांच के लिए गृहमंत्रालय ने राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) को निर्देश दिया है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कहा कि किसी भी संगठन की संलिप्तता और अंतरराष्ट्रीय लिंक की गहन जांच की जाएगी।

आरोपियों से NIA कर रही है पूछताछ

बता दें कि हत्या के दो आरोपियों गौस मोहम्मद और रियाज जब्बार को गिरफ्तार कर लिया गया है। एनआईए ने इन दोनों से पूछताछ शुरू कर दी है। उधर, नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया भी कन्हैयालाल के परिजनों से मिलने उदयपुर पहुंचे। उन्होंने कहा- सरकार का खुफिया तंत्र फेल है। अपराधियों में अब भय नहीं रहा।

इधर, कन्हैयालाल के अंतिम संस्कार को लेकर उनके परिवार और पुलिस के बीच विवाद हो गया। पुलिस ने कहा कि घर के पास ही अंतिम संस्कार कर दिया जाए। परिवार और समाज का कहना है कि हम शहर के सबसे बड़े अशोक नगर श्मशान में अंतिम संस्कार करेंगे। इसलिए शव अभी मोर्चरी में ही रखा हुआ है। पोस्टमॉर्टम हो चुका है।

आरोपियों पर UAPA के तहत मामला दर्ज

सीएम अशोक गहलोत ने बताया कि उदयपुर की घटना पर आज उच्चस्तरीय समीक्षा बैठक की। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि प्रारम्भिक जांच में सामने आया कि घटना प्रथम दृष्टया आतंक फैलाने के उद्देश्य से की गई है। दोनों आरोपियों के दूसरे देशों में भी संपर्क होने की जानकारी सामने आई है। इस घटना में मुकदमा UAPA के तहत दर्ज किया गया है इसलिए अब आगे की जांच NIA द्वारा की जाएगी, जिसमें राजस्थान ATS पूर्ण सहयोग करेगी। पुलिस एवं प्रशासन पूरे राज्य में कानून व्यवस्था सुनिश्चित करें एवं उपद्रव करने के प्रयासों पर सख्ती से कार्रवाई करें।

सीएम गहलोत ने की शांति की अपील

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के जोधपुर एयरपोर्ट पहुंचने के बाद उदयपुर मामले में बयान जारी किया। उन्होंने कहा कि बहुत चिंता वाली बात है। किसी का मर्डर करना चिंताजनक है। पूरे देश में तनाव का माहौल बन गया है। माहौल ठीक नहीं है। गलियों-मोहल्लों में जहां जिसकी आबादी कम संख्या में है, वे ज्यादा चिंतित है। आपस में तनाव बढ़ गया है।

जानें- क्या है पूरा मामला

मंगलवार की दोपहर टेलर कन्हैयालाल की दुकान में घुसकर निर्मम हत्या की गई थी। आरोपियों ने इस वारदात का वीडियो भी बनाया और प्रधानमंत्री मोदी को भी धमकी दी। परिजनों ने हत्या के बाद कुछ मांग रखी थीं। इस पर सहमति बनने के बाद कन्हैयालाल का शव मोर्चुरी में रखवाया गया है। पोस्टमॉर्टम के बाद अंतिम संस्कार किया जाएगा। परिजनों को 31 लाख रुपए और दोनों बेटों को भी नौकरी का आश्वासन दिया गया है। लापरवाही बरतने के लिए धानमंडी थाने के एएसआई भंवरलाल को निलंबित कर दिया गया है।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published.