Tuesday , August 16 2022

हम भगत सिंह की और तुम सावरकर की औलाद; CBI जांच की सिफारिश पर भड़के केजरीवाल

नई दिल्ली। दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना की ओर से दिल्ली सरकार की एक्साइज पॉलिसी की सीबीआई जांच की सिफारिश के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इसे झूठा केस बताया है। आबकारी विभाग संभालने वाले मनीष सिसोदिया को कट्टर ईमानदार बताते हुए अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में हो रहे अच्छे काम को रोकने के लिए उन्हें जेल भेजने की तैयारी की गई है। आम आदमी पार्टी के संयोजक ने बिना नाम लिए भारतीय जनता पार्टी और केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए वीर सावरकर और भगत सिंह का भी जिक्र किया। उन्होंने यह भी कहा कि पंजाब में जीत के बाद आम आदमी पार्टी की देशभर में आंधी है और इसे रोकने की कोशिश में कीचड़ उछाला जा रहा है।

अरविंद केजरीवाल ने मनीष सिसोदिया को क्लीनचिट देते हुए कहा, ”जेल से हमें डर नहीं लगता। तुम सावरकर की औलदा हो, तुम लोग सावरकर की औलाद हो, जिसने अंग्रेजों से माफी मांगी थी। हम भगत सिंह की औलाद हैं, हम भगत सिंह को अपना आदर्श मानते हैं, जिसने अंग्रेजों के सामने झुकने से मना कर दिया और फांस पर लटक गए। हमें जेल और फांसी से डर नहीं लगता। कई बार जेल हो आए हैं।” केजरीवाल ने एक ऑनलाइन प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि वह सिसोदिया को 22 साल से जानते हैं और वह एक ‘बेहद ईमानदार’ व्यक्ति हैं।

‘सिसोदिया को जल्द गिरफ्तार करेगी सीबीआई’
अरविंद केजरीवाल ने अपने बुराने बयानों का हवाला देते हुए कहा कि उन्होंने पहले ही कह दिया था कि मनीष सिसोदिया को जेल में डाला जा सकता है। केजरीवाल ने कहा, ”सीबीआई जल्द ही एक फर्जी केस में मनीष सिसोदिया को गिरफ्तार करने वाली है। मनीष एक कट्टर ईमानदार आदमी हैं, जिन पर झूठे आरोप लगाये जा रहे हैं। अब देश में नया सिस्टम लागू हो गया है। पहले तय किया जाता है किसे जेल भेजना है, फिर उसके खिलाफ फर्जी केस बनाया जाता है।” केजरीवाल ने कहा, ” मुझे पता चला है कि मनीष सिसोदिया के खिलाफ मामले को सीबीआई के पास भेजा गया है और वे उन्हें कुछ दिनों में गिरफ्तार करने वाले हैं। इसमें लेशमात्र भी सच्चाई नहीं है।” उन्होंने कहा, ”अदालत के समक्ष यह मामला टिक नहीं पाएगा। मनीष बेहद ईमानदार व्यक्ति हैं और वह पाक साफ साबित होंगे।”

दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली सरकार की आबकारी नीति 2021-22 में नियमों के कथित उल्लंघन और प्रकिया खामियों को लेकर इसकी केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) से जांच कराए जाने की सिफारिश की है। सिसोदिया दिल्ली सरकार के आबकारी विभाग के प्रमुख हैं। अधिकारियों ने शुक्रवार को बताया कि दिल्ली के मुख्य सचिव की इस महीने की शुरुआत में सौंपी गयी रिपोर्ट के आधार पर सीबीआई जांच की सिफारिश की गई है। इस रिपोर्ट से राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली सरकार (जीएनसीटीडी) अधिनियम 1991, व्यापारिक लेनदेन की नियमावली-1993, दिल्ली आबकारी अधिनियम 2009 और दिल्ली आबकारी नियम 2010 के उल्लंघनों का पता चलता है।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published.