Monday , June 17 2024

पत्नी और वकील के संपर्क में था श्रीकांत त्यागी, यहीं से मिली पुलिस को लीड, पढ़ें गिरफ्तारी की इनसाइड स्टोरी

नोएडा।  नोएडा में महिला से बदसलूकी करने वाले गालीबाज श्रीकांत त्यागी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. आरोपी के साथ तीन और लोगों को पकड़ा गया है. यूपी पुलिस लगातार उसकी तलाश में दबिश दे रही थी. आखिरकार मंगलवार सुबह वह मेरठ में नोएडा पुलिस के हत्थे चढ़ ही गया. यूपी पुलिस की 12 टीमें आरोपी की तलाश में तीन राज्यों में लगातार दबिश दे रही थीं.

बताया गया कि श्रीकांत त्यागी बीती रात ही सहारनपुर से मेरठ पहुंचा, जहां वह श्रद्धापुरी कॉलोनी में अपने करीबी के घर रुका था. आरोपी अपने करीबी की मदद से कोर्ट में सरेंडर करने वाला था.

इधर, पुलिस ने आरोपी की एक और कार बरामद की है. इस गाड़ी पर यूपी विधानसभा का स्टीकर लगा हुआ है. इतना ही नहीं, कार पर बीजेपी का झंडा भी लगा है. यह कार गौतमबुद्धनगर जिले के ही याकूबपुर से बरामद की गई है. पुलिस का कहना है कि श्रीकांत त्यागी इसी कार में बैठकर फरार हुआ था और फिर गाड़ी को एक जगह छोड़कर वह आगे निकल गया था.

इस महंगी गाड़ी का रजिस्ट्रेशन जेआरडी इंफ्राटेक प्राइवेट लिमिटेड के नाम पर दर्ज है. यह नोएडा की एक कंपनी है, जिसका पता ईस्ट दिल्ली के शॉप नंबर KH-208 village kondali पर दिया गया है. तहकीकात में पता चला कि इसके मालिक का नाम जितेंद्र यादव है जो कि कंपनी का डायरेक्टर है. 6 जून 2013 को जितेंद्र इस कंपनी का डायरेक्टर बना था. फिर 1 दिसंबर 2018 ओमनीश कुमार दूसरा डायरेक्टर बनाया गया.

बता दें कि खुद को बीजेपी नेता बताने वाले श्रीकांत त्यागी के खिलाफ नोएडा सेक्टर-93 स्थित ग्रैंड ओमैक्स सोसाइटी की एक महिला से बदसलूकी के आरोप में मामला दर्ज किया गया है.  महिला ने सोसायटी के साझा क्षेत्र में पौधे लगाने पर आपत्ति जताई थी, इससे भड़के त्यागी ने महिला से गाली-गलौज करते हुए धक्का-मुक्की तक कर दी थी.

इस मामले का वीडियो होने पर शासन-प्रशासन हरकत में आया. फिर नोएडा अथॉरिटी ने सोसाइटी में त्यागी के ग्रांउड फ्लोर पर बने फ्लैट के बाहर बनाए गए ‘अवैध’ निर्माण को ढहा दिया.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch