Friday , October 7 2022

नीरज चोपड़ा ने लुसाने डायमंड लीग जीतकर रचा इतिहास, खिताब जीतने वाले पहले भारतीय

भारत के स्टार जैवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा ने चोट से उबरने के बाद धमाकेदार वापसी की है. नीरज चोपड़ा ने शुक्रवार को 89.08 मीटर के बेस्ट थ्रो के साथ लुसाने डायमंड लीग मीट का टाइटल जीत लिया है. नीरज यह खिताब जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी हैं. इस खिताबी जीत के साथ ही नीरज ने सात एवं आठ सितंबर को ज्यूरिख में होने वाले डायमंड लीग के फाइनल्स में भी जगह बना ली है.

अपने अंतिम थ्रो में नीरज चोपड़ा ने 80.04 मीटर का निशाना लगाया. लुसाने डायमंड लीग में टोक्यो ओलंपिक के रजत पदक विजेता जैकब वाडलेज्च 85.88 मीटर के बेस्ट थ्रो के साथ दूसरे जबकि यूएसए के कर्टिस थॉम्पसन 83.72 मीटर के बेस्ट थ्रो की बदौलत तीसरे स्थान पर रहे.

89.08 मीटर नीरज चोपड़ा के करियर का तीसरा सर्वश्रेष्ठ प्रयास है. नीरज के करियर के बेस्ट थ्रो की बात करें तो वह 89.94 मीटर है जो उन्होने स्टॉकहोम डायमंड लीग में बनाया था. पानीपत के रहने वाले नीरज चोपड़ा डायमंड लीग का कोई खिताब जीतने वाले पहले भारतीय बन गए हैं. साथ ही वह डायमंड लीग के फाइनल में भी जगह बनाने वाले पहले भारतीय हैं. चोपड़ा से पहले चक्का फेंक खिलाड़ी विकास गौड़ा डायमंड लीग मीट के शीर्ष तीन में जगह बनाने वाले इकलौते भारतीय थे.

चोट के चलते CWG गेम्स में नहीं खेले थे नीरज

नीरज ने पिछले महीने विश्व चैम्पियनशिप में 88.13 मीटर के थ्रो से ऐतिहासिक रजत पदक जीता था. उस मुकाबले के दौरान ही नीरज को ग्रोइन इंजरी हो गई थी. इसके बाद मेडिकल टीम ने नीरज चोपड़ा को चार-पांच हफ्ते के आराम की सलाह दी थी जिसके बाद उन्होंने बर्मिंघम में आयोजित कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 से हटने का फैसला किया था. नीरज इंजरी से उबरने के लिए जर्मनी में रिहैबिलिटेशन  के दौर से गुजरे जिसके बाद उन्होंने धमाकेदार कमबैक किया है.

लुसाने डायमंड लीग में नीरज चोपड़ा का प्रदर्शन

पहला प्रयास – 89.08 मीटर
दूसरा प्रयास – 85.18 मीटर
तीसरा प्रयास – नहीं किया
चौथा प्रयास – फाउल
पांचवां प्रयास – नहीं किया
छठा प्रयास – 80.04 मीटर

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published.