Tuesday , June 25 2024

Asia Cup 2022: एशिया कप लिए आज से जंग की शुरुआत, जानें सभी छह टीमों का स्क्वॉड

श्रीलंका और अफगानिस्तान के बीच आज (27 अगस्त) होने वाले मुकाबले के जरिए एशिया कप 2022 का आगाज हो रहा है. भारत और पाकिस्तान समेत उपमहाद्वीप की कुल छह टीमें एशिया कप जीतने के लिए मैदान में उतरेंगी. इस दौरान भारतीय टीम का लक्ष्य इस खिताब को जीतने के साथ ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 विश्व कप के लिए अपनी तैयारियों को और पुख्ता करना होगा.

पहले श्रीलंका में होना था टूर्नामेंट

पहले श्रीलंका में एशिया कप का आयोजन होना था लेकिन आर्थिक और राजनीतिक संकट के कारण इसे यूएई में शिफ्ट करना पड़ा. अक्टूबर-नवंबर में ऑस्ट्रेलिया में होने वाले विश्वकप की तुलना में यूएई की परिस्थितियां काफी अलग होंगी. हॉन्ग कॉन्ग को छोड़ सभी टीमें अगले दो हफ्तों के दौरान आईसीसी प्रतियोगिता के लिए अपनी टीमों को अंतिम रूप देना चाहेगी.

भारतीय टीम रविवार को पाकिस्तान के खिलाफअपने शुरुआती मैच में उतरेगी. इस ‘हाई-प्रोफाइल’ मुकाबले में सभी की निगाहें विराट कोहली पर होंगी, जो लंबे समय से लय में आने की कोशिश कर रहे है. विश्राम के बाद वापसी कर रहे विराट कोहली अलावा बल्लेबाजी के शीर्ष तीन क्रम में कप्तान रोहित शर्मा और केएल राहुल पर टीम को अच्छी शुरुआत दिलाने की जिम्मेदारी होगी. टीम को हालांकि चोटिल तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह की कमी खलेगी.

पाकिस्तान को लग चुका है डबल झटका

पाकिस्तान के प्रदर्शन में भी पिछले 12 महीने में लगातार सुधार हुआ है. यह टीम 10 साल के लंबे अंतराल के बाद एक बार फिर से चैम्पियन बनने के लिए पूरा जोर लगाएगी. टूर्नामेंट के शुरू होने से पहले ही शाहीन आफरीदी और मोहम्मद वसीम के चोटिल होने के कारण पाकिस्तान की गेंदबाजी थोड़ी कमजोर हुई है, लेकिन बाबर आजम और मोहम्मद रिजवान जैसे धाकड़ बल्लेबाज अपने दम पर मैच जिताने की क्षमता रखते हैं.

अफगानिस्तान करना चाहेगा उलटफेर

अनुभवी खिलाड़ी मोहम्मद नबी की कप्तानी में अफगानिस्तान की टीम उच्च रैंकिंग वाली टीमों को हराने की कोशिश करेगी टीम ने पिछले साल टी20 विश्व कप में बड़ी टीमों को कड़ी टक्कर दी थी, लेकिन जीत हासिल नहीं कर पाई थी. राशिद खान हमेशा की तरह गेंद के साथ उनके तुरुप का इक्का होंगे. अफगान टीम अपने बल्लेबाजों से बड़ी पारी की उम्मीद करेगी.

श्रीलंका-बांग्लादेश भी कम नहीं

श्रीलंका की टीम ने नए मुख्य कोच क्रिस सिल्वरवुड की देखरेख में काफी सुधार किया है. टीम में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है, खिलाड़ियों के पास इस टूर्नामेंट से रातों रात स्टार बनने और आर्थिक संकट से जूझ रहे देश के लोगों के चेहरे पर मुस्कान लाने का इससे अच्छा मौका नहीं होगा.

बांग्लादेश की टीम ने विश्व कप के बाद से सबसे छोटे प्रारूप में संघर्ष किया है. टीम को हालांकि फिर से कप्तान बने शाकिब अल हसन के नेतृत्व बेहतर प्रदर्शन करने की उम्मीद होगी. बांग्लादेश ने विश्व कप से पहले श्रीधरन श्रीराम को तकनीकी निदेशक के रूप में टीम से जोड़ा है, जो टी20 प्रारूप की कमियों को दूर करने पर ध्यान देंगे.

हॉन्ग कॉन्ग भी पेश करेगा चुनौती

हॉन्ग कॉन्ग की टीम भारत और पाकिस्तान के ग्रुप में है. उपमहाद्वीप की दोनों बड़ी टीमों को हॉन्गकॉन्ग से सावधान रहना होगा. टीम ने ओमान में आयोजित क्वालिफायर में संयुक्त अरब अमीरात को हराकर चौथी बार एशिया कप के लिए क्वालिफाई किया है.

स्टैंडबाय: श्रेयस अय्यर, अक्षर पटेल, दीपक चाहर.

पाकिस्तान: बाबर आजम (कप्तान), शादाब खान, आसिफ अली, फखर जमां, हैदर अली, हारिस रऊफ, इफ्तिखार अहमद, खुशदिल शाह, मोहम्मद नवाज, मोहम्मद रिजवान, हसन अली, नसीम शाह, मोहम्मद हसनैन, शाहनवाज दहानी, उस्मान कादिर.

बांग्लादेश: शाकिब अल हसन (कप्तान), अनामुल हक, मुश्फिकुर रहीम, अफिफ हुसैन, मोसादेक हुसैन, महमूदुल्लाह, महेदी हसन, मोहम्मद सैफुद्दीन, हसन महमूद, मुस्ताफिजुर रहमान, नसुम अहमद, सब्बीर रहमान, मेहदी हसन मिराज, इबादत हुसैन, परवेज हुसैन एमोन, नुरुल हसन सोहन, तस्कीन अहमद.

श्रीलंका: दसुन शनाका (कप्तान), दनुष्का गुणातिलक, पथुम निसंका, कुशल मेंडिस, चरित असलंका, भानुका राजपक्षे, आशेन बंडारा, धनंजया डी सिल्वा, वानिंदु हसारंगा, महेश तीक्ष्णा, जेफरी वेंडरसे, प्रवीण जयविक्रमा, चमिका करुणारत्ने, दिलशान मधुशनका, मथीशा पथिराना, नुवानीडु फर्नांडो, दिनेश चांडीमल.

अफगानिस्तान: मोहम्मद नबी (कप्तान), नजीबुल्लाह जादरान (उप-कप्तान), अफसर जजई (विकेटकीपर), अजमतुल्लाह ओमरजई, फरीद अहमद मलिक, फजल हक फारूकी, हशमतुल्लाह शाहिदी, हजरतुल्लाह जजई, इब्राहिम जदरान, करीम जनत, मुजीब उर रहमान, नवीन उल हक , नूर अहमद, रहमानुल्ला गुरबाज (विकेटकीपर), राशिद खान, समीउल्लाह शिनवारी और उस्मान गनी.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch