Friday , June 14 2024

“मैं जानता हूं मेरी ताकत क्या है”, हार्दिक पाड्या ने खास ‘मास्टर-स्ट्रोक’ से दी पाक को मात, जीत के बाद बताई रणनीति

पाकिस्तान के खिलाफ भारतीय टीम ने एशिया कप 2022 के दूसरे मुकाबले में 5 विकेट से जीत हासिल की। टीम की इस जीत में अहम योगदान हरफनमौला खिलाड़ी हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) का रहा। इस खिलाड़ी ने अपनी तर्जतरार गेंदों के साथ-साथ अपनी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी से भी पाकिस्तानी टीम को धूल चटाई।

जहां गेंदबाजी करते हुए हार्दिक ने विरोधी टीम के बल्लेबाजी क्रम को ध्वस्त किया, तो वहीं उन्होंने पाकिस्तान की बल्लेबाजी इकाई को भी मिट्टी में मिला दिया। जिसके बाद उन्हें अपने इस विस्फोटक प्रदर्शन के लिए मैन ऑफ द मैच के खिताब से नवाजा गया।

IND vs PAK: Hardik Pandya ने जीत के बाद किया बड़ा खुलासा

हार्दिक पांड्या ने एक बार फिर अपना ऑलराउंडर प्रदर्शन दिखाकर टीम इंडिया को शानदार जीत दिलवाई। हार्दिक ने भारत को ना केवल मैच जितवाया, बल्कि फैंस को जिस पल का पिछले 308 दिनों से इंतजार था वो भी सच किया। उन्होंने टीम के लिए गेंदबाजी करते हुए तीन विकेट हासिल करने के साथ बल्ले से तेजतर्रार बल्लेबाजी की। जिस वजह से उन्हें मैन ऑफ द मैच के खिताब से नवाजा गया। जिसके बाद उन्होंने अपनी ताकत बताते हुए कहा कि,

“गेंदबाजी में, परिस्थितियों का आकलन करना और अपने स्टाइल का उपयोग करना महत्वपूर्ण है। मेरे लिए शॉर्ट और हार्ड लेंथ की गेंदबाजी मेरी ताकत रही है। यह गेंद का अच्छी तरह से उपयोग करने और बल्लेबाजों को गलत गेंदों पर शॉट जड़ने के बारे में है। इस तरह के लक्ष्य का पीछा करते हुए, आप हमेशा बार-बार योजना बनाते हैं। मैं हमेशा से जानता था कि एक युवा गेंदबाज है और एक बाएं हाथ का स्पिनर भी। मैं जानता हूं कि 20वें ओवर में गेंदबाज मुझसे ज्यादा दबाव में है। मैं चीजों को सरल रखने की कोशिश करता हूं।”

ऐसा रहा Hardik Pandya का प्रदर्शन

पाकिस्तान हार्दिक (Hardik Pandya) के प्रदर्शन ने भारतीय फैंस के साथ-साथ पाकिस्तानी गेंदबाजों को भी काफी इंप्रेस किया। उन्होंने टीम के लिए तीन अहम विकेट हासिल किए। इस दौरान उन्होंने 6.25 के इकानॉमी के साथ 4 ओवरों में 25 रन लुटाए। इसके अलावा उन्होंने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए 190 से ज्यादा के स्ट्राइक रेट से टीम के लिए 17 गेंदों पर 33 रनों की जिताऊ पारी खेली। इस दौरान उनके बल्ले से चार चौके और एक गगनचुंबी छक्का देखने को मिला। उनकी रवींद्र जडेजा के साथ भी अच्छे साझेदार हुई।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch