Saturday , June 15 2024

दूसरे लोगों के साथ सोने को कहता था, नहीं मानी तो इमरान ने फोन पर ही गालियाँ बकते हुए दिया तीन तलाक: निकाह के बाद करता था अप्राकृतिक सेक्स

मुरादाबाद। उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद से तीन तलाक का एक मामला सामने आया है। यहाँ की रहने वाली एक विशेष समुदाय की महिला को उसके पति ने बेंगलुरु फोन करके तीन तलाक दे दिया है। महिला ने अपनी शिकायत जिले के नागफनी थाना क्षेत्र में दर्ज कराई और अपनी आपबीती सुनाई। पीड़िता ने अपने शौहर के साथ-साथ उसके परिवार वालों पर भी गंभीर आरोप लगाए हैं।

‘दैनिक जागरण’ की एक रिपोर्ट के अनुसार, पीड़ित महिला यूपी के मुरादाबाद जनपद की रहने वाली है। पीड़िता ने थाने में अपने पति, सास और ननद पर दहेज उत्पीड़न के साथ-साथ कई गंभीर आरोप भी लगाए हैं। महिला के मुताबिक, उसकी शादी बेंगलुरु निवासी ऑटो पार्ट्स व्यापारी के साथ 22 नवंबर, 2019 को हुई थी। आरोप है कि निकाह के बाद से ही इमरान ने बीवी के साथ अप्राकृतिक सेक्स करना शुरू कर दिया था।

ये है पूरा मामला

महिला ने आरोप लगाया कि शादी के बाद से ही पति, सास और ननद दहेज में 10 लाख रुपए नहीं देने पर तंग करने लगे थे। पीड़ित महिला ने पति पर आरोप लगाते हुए बताया कि वह उसे दूसरे व्यक्तियों के साथ शारीरिक संबंध बनाने के लिए कई बार दबाव भी बना चुका है। जब इन सब अत्याचारों का महिला ने विरोध किया तो उसके पति ने उसके साथ मारपीट कर उसे अपने घर से निकाल दिया।

इस घटना के बाद महिला अपने मायके मुरादाबाद आ गई। महिला के मुताबिक, हाल ही में 31 अगस्त, 2022 की मध्यरात्रि में उसके पति ने उसे 2 बार फोन किया। पहली फोन कॉल में उसने महिला को गालियाँ बकी, वहीं दूसरी कॉल में उसने महिला को तलाक-तलाक-तलाक बोलकर तीन तलाक दे दिया। पुलिस के मुताबिक, इस मामले में सभी आरोपित बेंगलुरु में रहते हैं, उन्हें जल्द ही पूछताछ के लिए बुला लिया जाएगा।

पीलीभीत जिले में भी महिला को दिया तीन तलाक

पीड़ित युवती के पति का नाम सलमान बताया जा रहा है और उसने 12 अप्रैल 2022 को तीन तलाक देकर अपनी पत्नी से रिश्ता खत्म कर दिया था। ये शादी 23 मई, 2021 को हुई थी। महिला ने आरोप लगाया है कि दहेज न देने पर ससुराल वालों ने उसे अपने साथ ले जाने से इनकार कर दिया था, लेकिन बाद दहेज देकर उन्हें मना लिया गया। बाद में उन्होंने फिर से महिला को परेशान करना शुरू कर दिया और आखिर में उसे तीन तलाक देकर घर से भी निकाल दिया।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch