Sunday , April 14 2024

आज ही के दिन टीम इंडिया को मिला था अपना फ्यूचर कप्तान, पूरे हुए रोहित शर्मा को 15 साल, ऐसा रहा है हिटमैन का सफर

टीम इंडिया के कप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) के लिए आज का दिन बेहद ही खास है। हिटमैन के नाम से मशहूर भारतीय टीम के इस खिलाड़ी ने 15 साल पहले टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में अपना डेब्यू मैच खेला था। उन्होंने तब से लेकर अब तक टीम के लिए काफी शानदार प्रदर्शन किया है। उन्होंने अब तक कई बड़े रिकॉर्ड्स अपने नाम किए हैं। 19 सितंबर 2007 को टीम इंडिया के पूर्व खिलाड़ी युवराज सिंह ने हिटमैन के डेब्यू मैच को अपने लिए यादगार बनाया था।

रोहित शर्मा ने इंग्लैंड के खिलाफ खेला था डेब्यू मैच

Rohit Sharmaरोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने अपना डेब्यू मैच इंग्लैंड के खिलाफ डरबन में खेला था। उन्होंने एमएस धोनी की कप्तानी में टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू किया था। हालांकि इस दौरान उन्हें बल्लेबाजी करने का मौका नहीं मिल पाया था। क्योंकि इस मैच में उनकी बल्लेबाजी ही नहीं आई और वे बेंच पर ही बैठे रहे। लेकिन उन्होंने फील्डिंग के दौरान अच्छा प्रदर्शन दिखाया और एक कैच लपका था।

टीम इंडिया ने शानदार बल्लेबाजी के दम पर निर्धारित 20 ओवर में चार विकेट के नुकसान पर 218 रन बना लिए थे. लेकिन जवाब में छह विकेट पर 200 रन ही बना सकी। वैसे तो यह मैच रोहित (Rohit Sharma) का पहला था. लेकिन इसे युवराज सिंह की वजह से याद किया जाता है। इसकी वजह ये है कि यही वो मैच है जिसमें यूवी ने लगातार छह गेंदों पर छह छक्के लगाए थे।

रोहित शर्मा के नाम है ये रिकॉर्ड्स

Rohit Sharma2007 आईसीसी विश्व टी20 के लिए भारतीय टीम में रोहित (Rohit Sharma) को शामिल किया गया था और उन्होंने मेजबान दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 40 गेंदों में नाबाद 50 रन बनाकर क्वार्टर फाइनल में अपना शानदार प्रदर्शन दिखाया। उनकी इस पारी के दम पर टीम ने 37 रनों से जीत हासिल की। 2 अक्टूबर 2015 को धर्मशाला के एचपीसीए स्टेडियम में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ शर्मा ने पहले टी 20 अंतर्राष्ट्रीय में 106 रन बनाए।

इसके साथ ही वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में शतक लगाने वाले दूसरे भारतीय क्रिकेटर बन गए। श्रीलंका के खिलाफ हिटमैन ने 35 गेंदों पर डेविड मिलर के रिकॉर्ड की बराबरी की। उन्होंने 43 गेंदों में 118 रन बनाकर संयुक्त रूप से सबसे तेज T20I शतक भी बनाया। यह उनके टी20 अंतरराष्ट्रीय किकेट का दूसरा शतक था। बता दें कि वह टी20 क्रिकेट में चार शतक जड़ने वाले इकलौते भारतीय खिलाड़ी हैं।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch