Friday , October 7 2022

अमानतुल्लाह खान के बचाव में उतरे कांग्रेस नेता, खेल दिया ‘मजहबी कार्ड’

नई दिल्ली। दिल्ली वक्फ बोर्ड में हुए कथित भर्ती घोटाले को लेकर गिरफ्तार किए गए इसके चेयरमैन और आम आदमी पार्टी (आप) के विधायक को वहां से समर्थन मिला है, जहां से शायद उन्हें भी उम्मीद नहीं रही होगी। कांग्रेस के पूर्व विधायक और मुस्लिम नेता आसिफ खान सोमवार को अमानतुल्लाह के बचाव में उतर आए और कहा कि केंद्र की बीजेपी सरकार अल्पसंख्यकों को प्रताड़ित करने के लिए एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है।

अमानतुल्लाह खान को एंटी करप्शन ब्यूरो ने 16 सितंबर को पूछताछ और 5 ठिकानों पर छापेमारी के बाद गिरफ्तार किया था। एसीबी वक्फ बोर्ड में कथित घोटाले की जांच कर रही है। ओखला से विधायक अमानतुल्लाह वक्फ बोर्ड के चेयरमैन हैं। एसीबी ने उनके आवास समेत उनके करीबियों के ठिकानों पर छापेमारी की थी। इस दौरान दस्तावेजों के अलावा अवैध हथियार और कैश बरामद किए गए थे।

आसिफ खान ने दावा किया कि एसीबी की ओर से आप नेता के घर और अन्य ठिकानों पर छापेमारी से स्थानीय लोगों के बीच बेचैनी पैदा की। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि वह आप विधायक को क्लीन चिट नहीं दे रहे हैं। आसिफ ने कहा, ”एसीबी खान के परिवार को क्यों प्रताड़ित कर रही है और जामिया नगर इलाके में घबराहट पैदा कर रही है? मैं केंद्र में बीजेपी सरकार की ओर से किए जा रहे एजेंसियों के दुरुपयोग, खासकर अल्पसंख्यकों के खिलाफ, के मैं खिलाफ हूं।”

एसीबी ने दावा किया था कि आप विधायक के घर पर छापेमारी के दौरान बाधा पहुंचाने की कोशिश की गई थी। अधिकारियों को अपना काम करने से रोकने के आरोप में चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है। दिल्ली कांग्रेस के कुछ नेताओं ने कहा कि आप विधायक को आसिफ की ओर से समर्थन देना उनका निजी मामला है, लेकिन उन्हें इससे बचना चाहिए था। इस बीच, आसिफ खान ने कहा कि वह एक ‘कट्टर’ कांग्रेसी हैं और रहेंगे।

आसिफ ने कहा, “मैं ‘आप का समर्थन नहीं कर रहा हूं, मेरा समर्थन खान और उनके परिवार के लिए है। स्थानीय लोगों में काफी नाराजगी है और एक राजनेता के रूप में मुझे उनसे सहानुभूति है। इससे कांग्रेस को ही फायदा होगा।” आसिफ ओखला से दो बार विधायक रहे हैं। 2015 में उन्हें अमानतुल्लाह से मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा था।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published.