Sunday , April 21 2024

सीएम योगी पहुंचे सैफई, अंतिम संस्कार में शामिल होंगे कई दिग्गज, तैयारी में जुटे अधिकारी

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के संस्थापक तथा सरंक्षक मुलायम सिंह यादव का 82 वर्ष की आयु में आज गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में निधन हो गया। उनकी पार्थिव देह का अंतिम संस्कार मंगलवार को तीन बजे इटावा के सैफई में होगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने सोमवार शाम को इटावा के सैफई में मुलायम सिंह यादव की कोठी में उनकी पार्थिव देह का अंतिम दर्शन किया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने मुलायम सिंह को अंतिम श्रद्धांजलि दी। उनके साथ भाजपा प्रदेश अध्यक्ष चौधरी भूपेन्द्र सिंह तथा जलशक्ति मंत्री स्वतंत्रदेव सिंह ने भी नेताजी का अंतिम दर्शन किया।

मुलायम सिंह यादव का पार्थिव शरीर सैफई पहुंचने के पांच मिनट बाद ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी उनके आवास पहुंच गए। वह शाम करीब सवा पांच बजे सैफई हवाई पट्टी पर हेलीकाप्टर से उतरे। वह मुलायम का पार्थिव शरीर सैफई पहुंचने से पहले ही हवाई पट्टी पहुंच गए थे। यहां वह इंतजार करते रहे। पार्थिव शरीर आने की सूचना के बाद वह मुलायम सिंह के आवास पहुंचे। इस दौरान अखिलेश यादव के साथ सपा से राज्यसभा सदस्य प्रोफेसर रामगोपाल यादव भी थे। उनकी पार्थिव देह को मंगलवार सुबह तक कोठी में ही रखा जाएगा। इसके बाद उसको सैफई महोत्सव के पंडाल में रखा जाएगा।

jagran

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह समेत कई दिग्गज नेताओं के भी मंलगवार को सैफई में आने की संभावना है। इनके साथ ही छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल तथा उत्तराखंड के सीएम पुष्कर सिंह धामी व राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत समेत तमाम गणमान्य नेता सैफई पहुंचेंगे।

सैफई में देश भर के बड़े नेता के आने के कार्यक्रम को लेकर जिलाधिकारी अवनीश राय तथा एसएसपी जय प्रकाश सिंह ने व्यवस्थाओं को परखा। यातायात को मंगलवार को डायवर्ट भी किया जाएगा। इसके लिए तैयारियां चल रही थीं। शाम को कमिश्नर डा. राजशेखर व आइजी जोन प्रशांत कुमार ने भी व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

पूर्व मुख्यमंत्री व सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव का पार्थिव शरीर आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे के जरिए शाम करीब पांच बजे सैफई पहुंचा। उनके शव को सीधे उनके आवास पर ले जाया गया है वहीं पर मीटिंग हाल में लोगों के दर्शन के लिए रखा गया। वहां पर उनके छोटे भाई अभयराम सिंह यादव व राजपाल सिंह यादव मौजूद थे। उनके पुत्र पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव साथ में आए। उनके पहुंचते ही भारी संख्या में लोगों का जमाबड़ा आवास पर एकत्रित हो गया।

मंगलवार की सुबह उनकी पार्थिव देह को रथ पर सैफई महोत्सव पंडाल ले जाया जाएगा जहां पर लोग उनके अंतिम दर्शन करेंगे। इस अवसर पर देर शाम तक तैयारियां चलती रहीं। अंतिम संस्कार स्थल पर वाटरप्रूफ पंडाल लगाया गया है। सैफई महोत्सव स्थल पर 158 ऊंचे समाजवादी पार्टी के झंडे को झुका दिया गया।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch