Wednesday , February 28 2024

कन्फ्यूज पार्टी! राहुल गांधी का अटल को नमन और कांग्रेसी ने बताया ब्रिटिश एजेंट

नई दिल्ली। राहुल गांधी आज सुबह अटल बिहारी वाजपेयी की समाधि पर पहुंचे और उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। राहुल गांधी के इस कदम को कांग्रेस की ओर से उदार राजनीतिक का संकेत देने की कोशिश माना जा रहा था, लेकिन अब इस कोशिश पर पानी फिरता दिख रहा है। इसकी वजह अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के कॉर्डिनेटर गौरव पांधी का एक ट्वीट है। इस ट्वीट में उन्होंने अटल बिहारी वाजपेयी को अंग्रेजों का एजेंट ही बता दिया। हालांकि विवाद के बाद गौरव पांधी ने ट्वीट हटा लिया, लेकिन उससे पहले बड़ा नुकसान वह करा चुके थे। अहम बात यह है कि गौरव पांधी को मल्लिकार्जुन खड़गे की टीम का सदस्य माना जाता है। अहम सवाल यह है कि एक तरफ राहुल ने अटल को नमन किया है तो वहीं एक नेता ने उन्हें अंग्रेजों का एजेंट ही बता दिया। ऐसी स्थिति में कांग्रेस कैसे संभल सकेगी।

‘भारत जोड़ो यात्रा’ में करीब 3,000 किलोमीटर की दूरी तय करके दिल्ली पहुंचने के बाद राहुल गांधी ने इन प्रमुख नेताओं की समाधियों पर पहुंचकर श्रद्धांजलि अर्पित की। पदयात्रा करते हुए राहुल और कई अन्य ‘भारत यात्री’ शनिवार को दिल्ली में दाखिल हुए थे। कन्याकुमारी से सात सितंबर को शुरू हुई यह यात्रा अब तक नौ राज्यों-तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा और दिल्ली से गुजर चुकी है। यात्रा लगभग आठ दिनों के विराम के बाद उत्तर प्रदेश, हरियाणा, पंजाब और अंत में जम्मू कश्मीर की ओर बढ़ेगी।

कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा की अगुवाई कर रहे राहुल गांधी दिल्ली में हैं। इस दौरान वह सोमवार सुबह कड़ाके की ठंड में सफेद हाफ टी-शर्ट में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजिली देने पहुंचे। सदैव अटल पहुंच राहुल ने एबी वाजपेयी की समाधि पर फूल भी चढ़ाए। गौरतलब है कि पहले भी कांग्रेस की ओर से वाजपेयी का जिक्र करते हुए नरेंद्र मोदी पर हमले किए गए हैं। ऐसे में राहुल गांधी की ओर से वाजपेयी को श्रद्धांजलि दिए जाने को राजनीतिक संदेश के तौर पर भी देखा जा रहा है।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch