Sunday , February 25 2024

बृजभूषण के साथ अब कुश्ती संघ के उपाध्यक्ष को भी एक्सपोज करेंगी विनेश फोगाट, सबूत के तौर पर है ऑडियो क्लिप

नई दिल्ली। भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण सिंह के खिलाफ चल रहे विरोध प्रदर्शन के बीच अब विनेश फोगाट ने उपाध्यक्ष दर्शन लाल पर भी गंभीर आरोप लगाया है। शुक्रवार को मीडिया से बात करते हुए विनेश ने कुश्ती संघ के उपाध्यक्ष पर आरोप लगाया कि उन्होंने भी महिला पहलवान का शोषण किया है और उनके सबूत के तौर पर 30 मिनट का ऑडियो रिकॉर्डिंग है और समय आने पर वह सबके सामने रखेंगे। दिल्ली के जंतर मंतर पर पहलवानों के द्वारा किए जा रहे विरोध का आज तीसरा दिन है।

मीडिया से बात करते हुए विनेश ने कहा, ‘जिसकी लड़की का शोषण हुआ है वह हरियाणा राज्य से नहीं है लेकिन मेरे पास कुश्ती संघ के उपाध्यक्ष का 30 मिनट का ऑडियो है। और कई पुरुष पहलवानों ने भी शोषण और मानसिक प्रताड़ना की बात कही है।’

बृजभूषण सिंह पर एफआईआर को लेकर विनेश ने कहा, ‘सरकार से हमारी बातचीत चल रही है लेकिन इसका कोई नतीजा नहीं निकल पाया है। अगर हमारी मांगों को पूरा नहीं किया जाता है तो हम निश्चित रूप से सबूत के साथ पुलिस में जाएंगे।’

उन्होंने कहा, ‘इस पूरे मामले में अध्यक्ष जी चुप्पी साधे हुए हैं। वह क्यों सामने आकर हमसे बात की है। इतना सब कुछ होने के बाद भी वह बोले जा रहे हैं और कह रहे कि अगर वे बोलेंगे तो सुनामी आ जाएगी लेकिन हम लोग इतना बोल रहे हैं कुछ नहीं हो रहा है।’

बृजभूषण सिंह पर क्या है आरोप?

विनेश फोगाट, साक्षी मलिक, अंशु मलिक, बजरंग पुनिया और रवि दहिया जैसे स्टार पहलवानों ने आरोप लगाया है कि कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण सिंह महिला खिलाड़ियों का शोषण किया है और पहलवानों को मानसिक रूप से प्रताड़ित किया है। इस मामले को लेकर भारतीय ओलंपिक संघ को भी एक चिट्ठी लिखी गई है जिस पर कुछ पहलवानों ने अपने हस्ताक्षर भी किए हैं।

सरकार के साथ बातचीत से नहीं निकला हल

इस बीच पहलवानों और सरकार के साथ लगातार बातचीत का दौर जारी है। हालांकि इसके बावजूद कोई नतीजा नहीं निकल पाया है। एक तरफ आरोप लगाने वाले पहलवान ने बृजभूषण के खिलाफ सबूत होने की बात कही है लेकिन उसे अब तक पेश नहीं किया गया है और पुलिस में कोई एफआईआर दर्ज कराई गई है।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch