Sunday , April 21 2024

अलाया अपार्टमेंट हादसे में ऐक्शन तेज, सपा नेता का बेटा गिरफ्तार, दो फरार

लखनऊ। यूपी की राजधानी लखनऊ में मंगलवार शाम खौफनाक हादसा हुआ। हजरतगंज इलाके में स्थित वजीर हसन रोड एक पांच मंजिला अलाया अपार्टमेंट ढह गया। इस मामले में हजरतगंज कोतवाली में 3 लोगों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस ने गैर इरादतन हत्या समेत 6 धाराओं में FIR दर्ज करते हुए सपा नेता शाहिद मंजूर के बेटे नवाजिश शाहिद को गिरफ्तार किया हैं। वहीं मोहम्मद तारिक और फाहद याजदानी फरार हैं। जिनको पकड़ने के लिए पुलिस की 5 टीमें लगाई गई हैं। बता दें कि इस अपार्टमेंट का निर्माण कार्य याजदान बिल्डर्स ने कराया था।

लखनऊ पुलिस कमिश्नर एसबी शिराडकर ने बताया कि दो मौतों के बाद मामले में गैर इरादतन हत्या की धारा बढ़ाई जा रही है। हजरतगंज थाने के सीनियर सब इंस्पेक्टर दया शंकर द्विवेदी ने यह केस दर्ज कराया है। 14 लोगों को सकुशल निकाल लिया गया है। दो लोगों की मौत हो गई है। अब बड़ी मशीन से मलबा हटाया जा रहा है। उम्मीद है कि यह मलबा हटाने का काम 24 घंटे चलेगा। सीपी के मुताबिक, अब मलबे में किसी के भी दबे होने की आशंका नहीं है।

3 सदस्यीय टीम जांच के लिए गठित

करीब 20 घंटे से चल रहे इस राहत बचाव कार्य में अब तक 16 लोगों को मलबे से बाहर निकाला जा चुका है। इस हादसे में घायल हुए लोगों का इलाज चल रहा है। वहीं सिविल में उपचार के दौरान कांग्रेस नेता रहे जीशान हैदर की मां बेगम हैदर और सपा प्रवक्ता अब्बास हैदर की पत्नी उज़म हैदर भी इस हादसे का शिकार हुई थी। इनकी बुधवार को इलाज के दौरान मौत हो गई। बता दें कि जीशान हैदर और अब्बास हैदर भाई हैं। वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 3 सदस्यीय टीम गठित करने का भी आदेश दिया है। इसमें लखनऊ की मंडलायुक्त डॉ रोशन जैकब, जेसीपी पीयूष मोर्डिया और पीडब्ल्यूडी के एक इंजीनियर को शामिल किया है। यह टीम 7 दिन के अंदर सीएम योगी को रिपोर्ट सरकार को देगी।

डीजीपी डीएस चौहान के मुताबिक, कमेटी इस हादसे का असल कारण पता लगा रही है। अभी कहना मुश्किल है कि सही कारण क्या है अपार्टमेंट गिरने का। सिर्फ कयास लगाए जा रहे हैं लेकिन अभी जो बात सामने आई है उसके अनुसार इसके निर्माण कार्य की गुणवत्ता बेहद खराब थी। यही वजह अभी मानी जा रही बिल्डिंग गिरने की।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch