Thursday , February 22 2024

जातीय जनगणना, आरक्षण और अब मानस विवाद, क्या मंडल-2 का दौर ला पाएगा विपक्ष

लखनऊ। भाजपा एक तरफ हिंदुत्व और विकास के मुद्दे पर लगातार केंद्र की सत्ता में बनी हुई है तो वहीं हिंदी बेल्ट कहे जाने वाले यूपी और बिहार में उसके खिलाफ सामाजिक गोलबंदी की कोशिशें विपक्षी दलों ने तेज कर दी है। भाजपा के हिंदुत्व को कमंडल राजनीति की बढ़त माना जा रहा है और उसकी काट के लिए विपक्षी दल मंडल-2 लाने की कोशिश में हैं। बिहार में जातीय जनगणना का ऐलान हो या फिर आरक्षण खत्म करने की साजिश के आरोप लगाना, इन मुद्दों के उभार ने ऐसे ही संकेत दिए हैं। अब इसी कड़ी में बिहार के मंत्री चंद्रशेखर के रामचरितमानस पर दिए एक बयान ने नया विवाद खड़ा कर दिया है।

साफ है कि जातीय जनगणना, आरक्षण और अब रामचरितमानस विवाद के जरिए विपक्ष मंडल-2 की कोशिश में है। उसे लगता है कि अब भाजपा की काट के लिए यही जरूरी है कि हिंदुओं के बीच ही सवर्ण बनाम पिछड़ा कर दिया जाए। अखिलेश यादव ने यूपी चुनाव के दौरान भी ऐसी कोशिशें की थीं। उन्होंने स्वामी प्रसाद मौर्य, दारा सिंह चौहान समेत कई पिछड़े नेताओं को पार्टी में शामिल किया था। इसके अलावा वह खुद को भी लगातार यादव और पिछड़ा नेता बताते रहे हैं। साफ है कि वह भाजपा के हिंदुत्व कार्ड पर बैकफुट पर आने की बजाय ओबीसी और दलित गोलबंदी करने की कोशिश में हैं।

बिहार में भी आरजेडी ने चंद्रशेखर के बयान पर कोई सफाई नहीं दी। अखिलेश यादव ने सपा की नई राष्ट्रीय कार्यकारिणी के गठन में भी अपनी राजनीति के संकेत दिए हैं। उन्होंने अपनी टीम में एक भी राष्ट्रीय महासचिव किसी ब्राह्मण या ठाकुर नेता को नहीं बनाया है। इसकी बजाय बलराम यादव, स्वामी प्रसाद मौर्य, लालजी वर्मा जैसे पिछड़े नेताओं को उन्होंने प्रमोशन दिया है। साफ है कि अखिलेश यादव जैसे विपक्षी नेता ओबीसी बिरादरियों का एक गुलदस्ता तैयार करना चाहते हैं, जिसमें सभी जातियों का समावेश हो। खैर, देखना होगा कि 2024 के आम चुनाव में विपक्ष की यह रणनीति कितना रंग लाती है या फिर हाल 2022 के यूपी चुनाव जैसा ही होगा।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch