Sunday , April 21 2024

ब्राह्मण-राजपूत को अखिलेश यादव का दूर से सलाम, सपा के 16 राष्ट्रीय महासचिवों में एक भी पंडित-ठाकुर नहीं

लखनऊ। अखिलेश यादव ने रविवार को समाजवादी पार्टी की नई राष्ट्रीय कार्यकारिणी की घोषणा कर दी है। 64 लोगों की कार्यकारिणी में अगले लोकसभा चुनाव की रणनीति की झलक भी साफ दिखलाई देती है। अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के बाद सबसे महत्वपूर्व राष्ट्रीय महासचिव होते हैं। इस बार 16 लोगों को राष्ट्रीय महासचिव बनाया गया है। इनमें एक भी ब्राह्मण या ठाकुर नहीं है। अखिलेश यादव का पूरा जोर ओबीसी और दलितों पर दिखाई दे रहा है। कार्यकारिणी की घोषणा के कुछ घंटे पहले ही अखिलेश ने खुद को शुद्र कहते हुए भाजपा को पिछड़ों और दलितों को शुद्र मानने वाली पार्टी भी बताया।

अखिलेश को शायद अब एहसास हो गया है कि ब्राह्मणों और ठाकुरों का वोट बीजेपी के ही पास जाएगा। ऐसे में इन पर फोकस करने से सपा को ज्यादा फायदा नहीं होने वाला है। ऐसे में सपा का फोकस अब गैर यादव ओबीसी के साथ ही दलित पर होगा। नई कार्यकारिणी को देखें तो यह साफ भी हो जाता है कि पूरा जोर ओबीसी पर ही है।

ओबीसी की सभी बड़ी जातियों को जगह दी

अखिलेश यादव ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी में ओबीसी और दलितों की सभी बड़ी जातियों को राष्ट्रीय महासचिव जैसा बड़ा पद दिया है। मौर्य, राजभर, निषाद और कुर्मी के अलावा जाद नेताओं को जगह मिली है। इसके साथ ही दलितों में पासी और जाटव जैसी जातियों को जगह मिली है। पूरा जोर जातियों पर रखते हुए बीजेपी और बसपा से आने वालों को भी राष्ट्रीय कार्यकारिणी में शामिल किया गया है।

उपाध्यक्ष-किरनमय नंदा
राष्ट्रीय प्रमुख महासचिव– रामगोपाल यादव

राष्ट्रीय महासचिव
आजम खां, शिवपाल यादव, रवि प्रकाश वर्मा, बलराम यादव, स्वामी प्रसाद मौर्य, विशम्भर प्रसाद निषाद, अवधेश प्रसाद, इंद्रजीत सरोज, रामजी लाल सुमन, लालजी वर्मा, राम अचल राजभर, जो एंटोनी, हरेंद्र मलिक, नीरज चौधरी व सलीम इकबाल शेरवानी
कोषाध्यक्ष- सुदीप रंजन सेन

राष्ट्रीय सचिव

मधु गुप्ता, कमाल अख्तर, दयाराम पाल, राजेंद्र चौधरी, राजीव राय, रामबक्श वर्मा, अभिषेक मिश्रा, जावेद आब्दी, पीएन चौहान, आकिलि मुर्तजा, अखिलेश कटियार, राम आसरे विश्वकर्मा, तारकेश्वर मिश्र, हाजी इरफान अंसारी, राजाराम पाल, त्रिभुवन दत्त, राममूर्ति वर्मा, वीरपाल यादव व अनु टंडन

सदस्य

जया बच्चन, रामगोविंद चौधरी, अबू आसिम आजमी, चंद्रपाल सिंह यादव, जावेद अली खान, अरविंद कुमार सिंह, मुकेश वर्मा, ऊषा वर्मा, लीलावती कुशवाहा, राजेश कुशवाहा, राम दुलारे राजभर, संजय विद्यार्थी, ओपी यादव, पवन पांडेय, उज्जवल रमण सिंह, संजय लाठर, राज कुमार मिश्र, रमेश तोमर, धर्मेंद्र यादव, अक्षय यादव, तेज प्रताप यादव

अल्ताफ अंसारी, किसान सिंह सैंथवार, व्यास जी गौड़ व मौलाना इकबाल कादरी

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch