Sunday , May 26 2024

ग्रेटर नोएडा के विस्तार पर बड़ा फैसला, यमुना अथॉरिटी से जुड़े बुलंदशहर और खुर्जा के ये 55 गांव; समझें क्या फायदे

लखनऊ। बुलंदशहर विकास प्राधिकरण और खुर्जा विकास प्राधिकरण के 55 गांव यमुना प्राधिकरण में शामिल हो गए। सरकार की मुहर के बाद गजट नोटिफिकेशन जारी हो गया। इन गांवों के आने से यमुना प्राधिकरण के लॉजिस्टिक एवं वेयरहाउसिंग और कार्गो हब का दायरा बढ़ जाएगा। साथ ही लॉजिस्टिक एवं वेयरहाउसिंग हब को रेलमार्ग से भी जोड़ा जा सकेगा।

स्मार्ट सिटी, कार्गो और लॉजिस्टिक्स हब विकसित होगा
खुर्जा और बुलंदशहर के 55 गांवों को यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में शामिल हो गए हैं। अभी तक बुलंदशहर जिले के 40 गांव यमुना प्राधिकरण के अधिसूचित क्षेत्र में शामिल हैं। अब यह संख्या 95 हो गई। नये गांवों के इलाके में कार्गो-लॉजिस्टिक्स हब बनाया जाएगा। इसके अलावा जेवर एयरपोर्ट के आसपास स्मार्ट सिटी, कार्गो और लॉजिस्टिक्स हब, मेडिकल डिवाइस पार्क, टॉय पार्क और बड़ी औद्योगिक क्लस्टर विकसित किए जाने हैं। इन सब परियोजनाओं के लिए जमीन की जरूरत है।  यमुना प्राधिकरण के सीईओ डॉ अरुणवीर सिंह ने कहा कि खुर्जा और बुलंदशहर विकास प्राधिकरण के 55 गांव यमुना प्राधिकरण में शामिल हो हैं। यह इलाका वेयर हाउसिंग के लिए बेहतर है।

यमुना प्राधिकरण लॉजिस्टिक हब को रेलमार्ग से जोड़ेगा। इसके लिए चोला रेलवे स्टेशन सबसे नजदीक है। यह इस इलाके से करीब 16 किलोमीटर दूर है। इसके लिए केंद्र सरकार को प्रस्ताव भेजा जाएगा ताकि यह पूरा इलाका दिल्ली हावड़ा रेलमार्ग और डेडीकेटेड फ्रेट कॉरिडोर से जुड़ सके। इसकी योजना प्राधिकरण बना चुका है। जल्द ही इस पर अमल होगा।

ये गांव हुए शामिल
शेखपुर माम, दाउदपुर, सलेमपुर मजरा दस्तूरा, दस्तूरा, खंडपूरा, भगवानपुर, हसनपुर लडूकी, बीघेपुर, बीछट सुजानपुर मोहम्मद पुर मजरा बीछट, अख्तियारपुर, सनोता सफीपुर, भाईपुर, लालपुर ममरेजपुर, शहजादपुर कनेनी, ताजमाबाद सारंगपुर, नगला रूमी, आसफपुर, सिरयाल, शाहपुर कला, गोठनी, भिंडोर, फिरोजपुर, अहरौली, औरंगा, भादवा, रामगढ़ी, जाफर नगर गदाईपुर, जाहिदपुर कला, गंगथला, कलंदर गढ़ी, क्वारसी, जाहिदपुर खुर्द, सुल्तानपुर, इस्माईलपुर बुधैना, इब्राहिमपुर जुनैदपुर, समसपुर, कमालपुर मजरा भदौरा, इनायतपुर उर्फ मधुपुरा, भदौरा, खबरा, भौंरा, सलौनी उर्फ रौनी, मकरंदपुर उर्फ फतेहपुर, वैर बादशाहपुर, अरौड़ा, फतेहपुर जादौन, घनौरा, नूरपुर, निठारी, गंगरौल, कादरपुर।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch