Sunday , April 14 2024

थम नहीं रही अडानी के शेयरों की गिरावट, वैल्यूएशन गुरु बोले- 945 रुपये है अडानी एंटरप्राइजेज की फेयर वैल्यू

अडानी ग्रुप (Adani Group) के शेयरों में गिरावट थमने का नाम नहीं ले रही है। अमेरिकी शॉर्ट सेलर हिंडनबर्ग (Hindenburg) की रिपोर्ट आने के बाद से अडानी ग्रुप की कंपनियों के शेयर लगातार दबाव में हैं। अडानी ग्रुप के शेयर सोमवार को 10 पर्सेंट तक लुढ़क गए हैं। अडानी एंटरप्राइजेज के 20,000 करोड़ रुपये के FPO को वापस लेकर ग्रुप ने इनवेस्टर्स का कॉन्फिडेंस बढ़ाने की कोशिश जरूर की, लेकिन इसका कोई पॉजिटिव इम्पैक्ट नहीं देखने को मिला है। इस बीच, वैल्यूएशन गुरु अश्वथ दामोदरन ने कहा है कि अडानी एंटरप्राइजेज के शेयरों की फेयर वैल्यू करीब 945 रुपये होनी चाहिए।

अडानी एंटरप्राइजेज (Adani Enterprises) के शेयरों ने सोमवार को 7 पर्सेंट से ज्यादा की गिरावट के साथ 1433.60 रुपये के निचले स्तर को छुआ है। फिलहाल, अडानी एंटरप्राइजेज के शेयर 6 पर्सेंट की गिरावट के साथ 1490 रुपये पर हैं। अडानी एंटरप्राइजेज के शेयर 60 पर्सेंट से ज्यादा टूट चुके हैं। वहीं, अडानी पोर्ट्स के शेयरों में सोमवार को तेजी का रुख है। अडानी पोर्ट्स के शेयर 1.28 पर्सेंट की तेजी के साथ 505.25 रुपये के स्तर पर ट्रेड कर रहे हैं।

10% लुढ़क गए अडानी ट्रांसमिशन के शेयर
अडानी ट्रांसमिशन (Adani Transmission) के शेयर सोमवार को 10 पर्सेंट के लोअर सर्किट के साथ 1261.40 रुपये के स्तर पर हैं। अडानी विल्मर (Adani Wilmar) और अडानी पावर (Adani Power) के शेयर 5 पर्सेंट के लोअर सर्किट पर हैं। अडानी टोटल गैस के शेयर भी 5 पर्सेंट की गिरावट के साथ 1544.70 रुपये पर हैं। अडानी ग्रीन एनर्जी के शेयरों में भी 5 पर्सेंट का लोअर सर्किट लगा हुआ है।

अडानी एंटरप्राइजेज पर क्या बोले वैल्यूएशन गुरु
अडानी एंटरप्राइजेज के शेयर अपने 4190 रुपये के हाई से 60% से ज्यादा गिर चुके हैं। इस बीच, वैल्यूएशन गुरु अश्वथ दामोदरन ने कहा है कि अगर हिंडनबर्ग रिपोर्ट में लगाए गए आरोप गलत हैं तो भी अडानी एंटरप्राइजेज के शेयर अभी सस्ते नहीं हैं। फाइनेंस प्रोफेसर ने अपने ब्लॉग में शेयर किए गए डिटेल्ड कैलकुलेशन में कहा है कि स्टॉक की फेयर वैल्यू करीब 945 रुपये होनी चाहिए।

डिस्क्लेमर: यहां सिर्फ शेयर के परफॉर्मेंस की जानकारी दी गई है, यह निवेश की सलाह नहीं है। शेयर बाजार में निवेश जोखिम के अधीन है और निवेश से पहले अपने एडवाइजर से परामर्श कर लें।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch