Sunday , May 26 2024

तुर्की बोला- हर टेंट, हर कंबल के लिए भारत का शुक्रिया; भूकंप पीड़ितों को मिल रही बड़ी मदद

जबर्दस्त भूकंप के बाद मुश्किल हालात से जूझ रहे तुर्की ने एक बार फिर भारत का शुक्रिया अदा किया है। भारत में तुर्की के राजदूत फिरात सुनेल ने सोमवार को भारत द्वारा राहत सामग्री भेजने के लिए आभार जताया। उल्लेखनीय है कि छह फरवरी को दक्षिण-पूर्वी तुर्किये और उत्तरी सीरिया में 7.8 और 7.5 तीव्रता के भूकंप आया था। इनमें करीब 33,185 लोगों की मौत हुई है और मृतक संख्या बढ़ने की संभावना है क्योंकि तलाश दलों को और भी शव मिल रहे हैं। इस भूकंप के बाद भारत ने तुर्की की तरफ मदद का हाथ बढ़ाया है।

फिरात सुनेल ने ट्विटर पर लिखा कि भारत की तरफ तुर्की को इमरजेंसी में एक और मदद। उन्होंने आगे लिखा कि जरूरत के मुताबिक तुर्की एयरलाइंस भूकंप प्रभावित इलाकों में सामान लेकर जाती है। तुर्की के राजदूत ने लिखा कि शुक्रिया भारत। हर टेंट, हर कंबल, स्लीपिंग बैग्स बहुत अहमियत रखते हैं। हजारों भूकंप प्रभावितों के लिए यह बहुत मायने रखता है। बता दें कि ऑपरेशन दोस्त की सातवीं फ्लाइट रविवार को भूकंप प्रभावित भूकंप प्रभावित सीरिया पहुंची। 23 टन राहत सामग्री लदी इस फ्लाइट का दमिश्क एयरपोर्ट पर स्वागत किया गया। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने इसको लेकर ट्वीट किया था।

ऑपरेशन दोस्त की तारीफ

इससे पहले पहले भी फिरात सुनेल ऑपरेशन दोस्त की तारीफ कर चुके हैं। पिछले हफ्ते उन्होंने कहा था कि इस कदम ने साबित किया है कि तुर्की और भारत दोस्त है। ऑपरेशन दोस्त ने दोनों देशों के संबंधों को और प्रगाढ़ किया है। उन्होंने यह बात गाजियाबाद के हिंडर एयरबेस पर कही थी। उधर विनाशकारी भूकंप के हफ्ते भर बाद भी मलबे से लोगों से मिलने का सिलसिला थमा नहीं है। सोमवार को 40 वर्षीय एक महिला को एक इमारत के मलबे से निकाला। हालांकि, मलबे में दबे लोगों के शून्य डिग्री सेल्सियस से कम तापमान में और बगैर पानी के जीवित बचे होने की संभावना अब कम हो गई है।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch