Sunday , April 21 2024

स्वरा भास्कर की फहाद संग शादी पर भड़कीं साध्वी प्राची, बोलीं- श्रद्धा की तरह 35 टुकड़े मिलेंगे, जल्द होगा तलाक

बॉलीवुड एक्ट्रेस स्वरा भास्कर ने जबसे अपने लव ऑफ लाइफ फहाद अहमद संग कोर्ट मैरिज की है, वे कईयों के निशाने पर हैं. फहाद और स्वरा की इंटर रिलीजन मैरिज पर बीजेपी नेता साध्वी प्राची ने निशाना साधा है. उन्होंने स्वरा के लिए कहा, या तो वे जल्द ही घर वापसी करेंगी या फिर उनका हाल भी श्रद्धा की तरह होगा. वे सूटकेस या फ्रिज में मिलेंगी.

साध्वी प्राची ने उन युवतियों पर निशाना साधा, जिन्होंने धर्म परिवर्तन करके दूसरे मजहब में निकाह किया है. बरेली में साध्वी प्राची ने मीडिया के साथ बातचीत करते हुए स्वरा पर निशाना साधा. उन्होंने कहा- स्वरा भास्कर के पहले भी सुर अलग थे. उसने जो शादी की है उसे श्रद्धा का वो फ्रिज याद कर लेना चाहिए. जिसमें 35 टुकड़े मिले थे. अभी एक बच्ची निक्की नाम है उसके साथ भी ये घटना हुई है. कोई बात नहीं कितनी लड़कियां भटक जाती हैं, लेकिन दुख होता है मुझे. या तो वो सूटकेस में जाती है या किसी बोरे में मिलती हैं या फिर फ्रीज में. उसके 35 टुकड़े मिलते हैं. स्वरा भास्कर की भी जल्दी सूचना आने वाली है. तलाक की सूचना जल्दी आएगी.

मार्च में ग्रैंड वेडिंग करेंगी स्वरा

स्वरा भास्कर का अभी तक साध्वी प्राची के बयान पर कोई रिएक्शन नहीं आया है. स्वरा की शादी पर देशभर में अलग-अलग रिएक्शन देखने को मिल रहे हैं. एक्ट्रेस इस डिबेट से दूर अपनी ग्रैंड वेडिंग की तैयारी कर रही हैं. फहाद संग कोर्ट मैरिज करने के बाद एक्ट्रेस मार्च में ट्रैडिशनल वेडिंग करने वाली हैं. फैंस दुल्हन के लिबास मे ंस्वरा को सजी धजी देखने के लिए फुली एक्साइटेड हैं.

कैसे फहाद संग हुई थी मुलाकात?

स्वरा की फहाद संग 2019 में एक प्रोटेस्ट के दौरान मुलाकात हुई थी. फिर उनकी दोस्ती हुई और अब दोनों ने कोर्ट मैरिज कर ली है. स्वरा ने अपनी शादी की खबर सोशल मीडिया पर फोटो शेयर कर दी थी. एक्ट्रेस का ये पोस्ट देख फैंस सरप्राइज्ड हो गए थे. फहाद समाजवादी पार्टी के नेता हैं. वे महाराष्ट्र सपा युवजन कमेटी के प्रदेश अध्यक्ष हैं. सीएए एनआरसीसी आंदोलन के दौरान उनकी स्वरा से मुलाकात हुई थी. फहाद के पिता जर्रार अहमद कांग्रेस से जुड़े हुए हैं.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch