Sunday , May 26 2024

100 गाड़ियों ने किया पीछा, 1.5 घंटे की मशक्कत: पंजाब में अमृतपाल सिंह 6 साथियों के संग गिरफ्तार, कई जिलों में इंटरनेट सेवा बंद

खालिस्तान (Khalistan) समर्थक अमृतपाल सिंह (Amritpal Singh) के खिलाफ पंजाब पुलिस (Punjab Police) ने बड़ा एक्शन लिया है। अमृतपाल और उसके 6 साथियों का पीछा कर गिरफ्तार कर लिया गया है। उसके साथियों के पास से कई हथियार भी मिले हैं। स्थिति को देखते हुए पंजाब के कई इलाके में रविवार (19 मार्च 2023) तक के लिए इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया गया है।

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक अमृतपाल सिंह अपने साथियों के साथ जा रहा था। इसी दौरान पंजाब पुलिस ने उसका पीछा करना शुरू कर दिया। पंजाब पुलिस के कई थानों की पुलिस उसके पीछे लग गई। लगभग डेढ़ घंटे तक पीछा करने के बाद अमृतपाल को जालंधर के पास मैहतपुर के पास पकड़ लिया गया। हालाँकि, कुछ मीडिया रिपोर्ट में उसके भाग निकलने की बात कही जा रही है। अमृतपाल सिंह के खिलाफ हेट स्पीच समेत कई मामले दर्ज हैं।

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, वारिस पंजाब दे का प्रमुख अमृतपाल अपने साथियों के साथ मोगा की तरफ जा रहा था। उसके काफिले में तीन गाड़ियाँ शामिल थीं। पुलिस ने काफिले का पीछा कर 2 गाड़ियों को जब्त कर उनमें सवार अमृतपाल के 6 साथियों को गिरफ्तार कर लिया। बताया जा रहा है कि अमृतपाल उस वक्त भागने में कामयाब रहा।

मिली जानकारी के मुताबिक, इसके बाद पुलिस की लगभग 100 से गाड़ियाँ अमृतपाल और उसके दूसरे साथियों का पीछा करने लगी और उसे गिरफ्तार कर लिया गया। फिलहाल इसकी पुष्टि नहीं की गई है। हिरासत में लिए गए अमृतपाल के साथियों के पास से भारी मात्रा में हथियार बरामद किए गए हैं। अमृतपाल के खिलाफ जारी एक्शन के बीच कई इलाकों में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को बंद किए जाने की भी खबर है।

बता कें कि 23 फरवरी 2023 को अमृतपाल के एक करीबी की गिरफ्तारी के बाद खालिस्तान समर्थकों ने अजनाला थाने पर हमला कर दिया था। अमृतपाल ने मीडिया के सामने आकर पंजाब पुलिस को अल्टीमेटम दिया था, जिसके कुछ ही घंटों के भीतर उसके साथी लवप्रीत को पुलिस ने छोड़ दिया था। इस घटना के बाद पंजाब पुलिस की जमकर आलोचना हुई थी।

पिछले कुछ दिनों से पंजाब पुलिस ने अमृतपाल और उसके साथियों के खिलाफ शिकंजा कसना शुरू कर दिया था। कुछ दिन पहले ही अमृतपाल के साथी गुरिंदर सिंह को पुलिस ने उस वक्त गिरफ्तार कर लिया था, जब वह देश छोड़कर लंदन भागने की कोशिश कर रहा था। उसे गुरु रामदास एयरपोर्ट से पकड़ा गया था।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch