Sunday , May 26 2024

होम्योपैथिक के जनक डॉ हैनिमैन की 268वीं जयंती पर किया गया याद

सतीश चंद्र शर्मा रसद एवं खाद्य मंत्री उत्तर प्रदेश सरकार तथा आध्यात्मिक गुरु एवं विश्व शांति दूत स्वामी सारंग ने किया निशुल्क होम्योपैथिक चिकित्सा शिविर का उद्घाटन

लखनऊ।  लखनऊ के बालागंज कैंपल रोड के भीमराव अंबेडकर पार्क में होम्योपैथिक चिकित्सक एवं हैनीमैन चैरिटेबल ट्रस्ट एंड हैनीमैन एजुकेशनल डेवलपमेंट सोसाइटी एवं चिकित्सा प्रकोष्ठ भारतीय जनता पार्टी भारतीय जनता पार्टी लखनऊ तथा बर्नेट प्राइवेट लिमिटेड के साथ वरिष्ठ चिकित्सक डॉ आदर्श त्रिपाठी ने मिलकर मनाई होम्योपैथिक के जनक डॉ क्रिश्चियन फ्रेडरिक सैमुअल हैनीमैन की 268वीं जयंती इस समारोह में हैनीमैन की चिकित्सा सेवाओं को याद करते हुए होम्योपैथी एक भव्य निशुल्क होम्योपैथिक शिविर का आयोजन किया गया जिसमें दवा जांचें सभी को निशुल्क दी गईं इस ख़ूबसूरत मौके पर डॉ आदर्श त्रिपाठी ने अतिथियों शिक्षकों को समाजसेवियों को अंग वस्त्र पुष्पगुच्छ मोमेंटो देकर सम्मानित किया।

इस मौके पर डॉ बीएन सिंह पूर्व निदेशक होम्योपैथिक चिकित्सा डॉ बी के शुक्ला के साथ-साथ कई वरिष्ठ होम्योपैथिक चिकित्सक शहर के कई नामचीन समाजसेवी, समाज सेविका को उनके उत्कृष्ट कार्य के लिए सम्मानित किया इस मौके पर चिकित्सा प्रकोष्ठ भारतीय जनता पार्टी लखनऊ महानगर के संयोजक वरिष्ठ चिकित्सक डॉ शाश्वत विद्याधर के साथ-साथ डॉक्टर एनके शुक्ला डॉक्टर मोहम्मद इरशाद तथा चिकित्सा प्रकोष्ठ की पूरी टीम को सम्मानित किया गया दत्ता त्रिपाठी ने डॉ हैनिमैन को याद करते हुए कहा एलोपैथी से पीएचडी करने के बाद होम्योपैथिक को जन्म देना और कम पैसे में ग़रीब लोगों के इलाज करने के लिए एक नई पैथी को जन्म देना और विश्व में पहचान बनाना महान व्यक्तित्व हमारी प्रेरणा और आदर्श हैं, अध्यात्म गुरु स्वामी सारंग ने आदर्श त्रिपाठी को आशीर्वाद देते हुए कहा समाज सेवा सबसे बड़ी सेवा है , कार्यक्रम के अतिथि सतीश चंद्र शर्मा रसद एवं खाद्य मंत्री उत्तर प्रदेश सरकार ने अपने वक्तव्य में कहा कि डॉक्टर अगर इसी तरह निशुल्क कैंप लगाकर ग़रीबों की सेवा करें तो धीरे-धीरे बीमारियां खत्म होंगी और भारत स्वस्थ होगा।

निशुल्क चिकित्सा कैंप के माध्यम से हड्डी दातों आंखों पैथोलॉजी की जांच बिल्कुल मुफ्त की गई साथ ही साथ वरिष्ठ चिकित्सकों के परामर्श के साथ दवा भी सभी को निशुल्क वितरित की गई, डॉ आदर्श त्रिपाठी ने कहा जब तक मेरी सांस में सांस है मैं गरीबों और जरूरतमंदों में कम से कम पैसे में चिकित्सा पहुंचाने का प्रयास करता रहूंगा।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch