Thursday , February 22 2024

द्वारका एक्सप्रेसवे के निर्माण में गड़बड़झाला, 18 करोड़/KM की जगह दिए गए 250 करोड़ रुपये; CAG का खुलासा

द्वारका एक्सप्रेसवे के निर्माण में गड़बड़झाला, 18 करोड़/KM की जगह दिए गए 250 करोड़ रुपये; CAG का खुलासा नई दिल्ली। भारत के नियंत्रक और महालेखा परीक्षक (CAG) ने 29.06 किलोमीटर लंबे द्वारका एक्सप्रेसवे के निर्माण में बहुत अधिक परियोजना लागत को चिह्नित किया है। CAG ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि आर्थिक मामलों की कैबिनेट समिति (CCEA) द्वारा अनुमोदित दर 18.20 करोड़ रुपये प्रति किलोमीटर के बजाय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय (MoRTH) ने कंस्ट्रक्शन कंपनी को 250.77 करोड़ रुपये प्रति किलोमीटर की दर से लागत राशि को मंजूरी दी है।

वर्ष 2017-18 से 2020-21 की अवधि के बीच ‘भारतमाला परियोजना के चरण- I के कार्यान्वयन’ (या BPP-I) पर अपनी ऑडिट रिपोर्ट में CAG ने 14-लेन सड़क परियोजना पर कई टिप्पणियाँ की हैं। इस एक्सप्रेसवे पर आठ एलिवेटेड लेन और छह लेन ग्रेड (ऊंची की गई सड़क)हैं- जिसका उद्देश्य दिल्ली और गुड़गांव के बीच NH-48 पर यात्री भीड़ और ट्रैफिक लोड को कम करना है।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch