Wednesday , September 27 2023

अमेरिका और रूस में आसमान में दोस्ती का नया अवतार, स्पेसएक्स रॉकेट से इन 4 देशों ने साथ भरी अंतरिक्ष की उड़ान

अमेरिका और रूस भले ही सदियों से एक दूसरे के कट्टर दुश्मन रहे हों, मगर आसमान में इन दोनों देशों के बीच दोस्ती का नया अवतार देखने को मिला है। रूस और अमेरिका ने एक साथ और एक ही यान से अंतरिक्ष की उड़ान भरी है। यह सुनकर आपको आश्चर्य लग रहा होगा, मगर ये सच है। स्पेसएक्स रॉकेट से शनिवार को रूस, अमेरिका, जापान और डेनमार्क के वैज्ञानिकों ने एक साथ उड़ान भरके सबको चौंका दिया है। इन चार देशों के चार अंतरिक्ष यात्री स्पेसएक्स के रॉकेट से शनिवार को अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन के लिए रवाना हुए। वे संभवत: रविवार को अपने स्पेसएक्स कैप्सूल से अंतरिक्ष स्टेशन पहुंच जाएंगे, जहां वे मार्च से रह रहे चार अंतरिक्ष यात्रियों की जगह लेंगे।

अमेरिका के ‘केनेडी स्पेस सेंटर’ से अमेरिका की अंतरिक्ष एजेंसी नासा की एक अंतरिक्ष यात्री के साथ डेनमार्क, जापान और रूस के यात्रियों ने उड़ान भरी है। अधिकारियों ने बताया कि यह अमेरिका का पहला प्रक्षेपण है, जिसमें अंतरिक्ष यान की हर सीट पर अलग-अलग देश के अंतरिक्ष यात्री बैठे थे। इससे पहले तक नासा, स्पेसएक्स यान में दो या तीन अंतरिक्ष यात्रियों को शामिल करता था। नासा की अंतरिक्ष यात्री जैस्मीन मोघबेली ने कक्षा से संदेश भेजा, ‘‘हम एक साझा मिशन पर जा रही एकजुट टीम हैं।’

छह महीने के मिशन पर रवाना हुए अंतरिक्ष यात्री

चार अंतरिक्ष यात्री-दुनिया भर में चार देशों और अंतरिक्ष एजेंसियों का प्रतिनिधित्व करते हुए – एक स्पेसएक्स रॉकेट पर सवार होकर अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन की ओर रवाना हुए। यह सभी छह महीने से अधिक समय तक चलने वाले एक मिशन का हिस्सा हैं। मिशन पर क्रू स्पेसएक्स क्रू ड्रैगन एंड्योरेंस कैप्सूल पर सवार है, जिसे क्रू-7 कहा जाता है। अंतरिक्ष यान को शनिवार सुबह 3:27 बजे फ्लोरिडा में नासा के कैनेडी स्पेस सेंटर से स्पेसएक्स फाल्कन 9 रॉकेट से लॉन्च किया गया। मिशन पर चार अंतरिक्ष यात्रियों में नासा की जैस्मीन मोघबेली शामिल हैं, जो मिशन कमांडर के रूप में कार्यरत हैं; यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी का प्रतिनिधित्व करने वाले डेनिश अंतरिक्ष यात्री एंड्रियास मोगेन्सन; जापान एयरोस्पेस एक्सप्लोरेशन एजेंसी, या JAXA के सातोशी फुरुकावा; और रोस्कोस्मोस के रूसी अंतरिक्ष यात्री कॉन्स्टेंटिन बोरिसोव ने साथ उड़ान भरी है।

क्रू-6 से संचालन लेने में क्रू-7 को लगेंगे 5 दिन

कक्षा में पहुंचने के बाद, क्रू ड्रैगन कैप्सूल फाल्कन 9 रॉकेट से अलग हो गया है और कक्षा के माध्यम से अपनी एकल यात्रा शुरू कर दी है। पृथ्वी की सतह से लगभग 220 समुद्री मील (420 किलोमीटर) ऊपर परिक्रमा करने वाला यह अंतरिक्ष यान अंतरिक्ष स्टेशन सावधानीपूर्वक 24 घंटे से अधिक समय बिताएगा। लॉन्च के बाद क्रू ड्रैगन कैप्सूल से स्पेसएक्स मिशन नियंत्रण के लिए रवाना हुए मोघबेली ने कहा, “अंतरिक्ष यात्रा कठिन है, लेकिन आप इसे आसान बनाते हैं।” उन्होंने कहा, “हम एक साझा मिशन वाली एकजुट टीम हैं।” “क्रू-7 चलो। बहुत बढ़िया सवारी।”उम्मीद है कि चालक दल रविवार को सुबह 8:39 बजे के आसपास अंतरिक्ष स्टेशन पर पहुंचेगा। अब मोघबेली, मोगेन्सन, फुरुकावा और बोरिसोव पहले से ही परिक्रमा प्रयोगशाला में मौजूद सात अंतरिक्ष यात्रियों में शामिल हो जाएंगे। क्रू-7 अंतरिक्ष यात्री स्पेसएक्स क्रू-6 अंतरिक्ष यात्रियों से संचालन संभालने में लगभग पांच दिन बिताएंगे, जो मार्च से अंतरिक्ष स्टेशन पर हैं।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch