Thursday , February 22 2024

कहां है अतीक की बेगम शाइस्ता और उसके गुर्गे? गिरफ्तारी के लिए ये है पुलिस का नया प्लान

शाइस्ता और जैनब (फाइल फोटो)प्रयागराज में उमेश पाल हत्याकांड (Umesh Pal murder case) में आरोपी माफिया अतीक अहमद की 50 हजार रुपये की इनामिया पत्नी शाइस्ता परवीन (Shaista Parveen) कहां है, इसका जवाब किसी के पास नहीं है. न ही 5 लाख रुपये के इनामिया आरोपियों का पता 180 दिन बाद भी लग पाया है. वहीं अशरफ की पत्नी जैनब फातिमा, उसकी बहन आयशा नूरी भी भूमिगत है. पुलिस लाखों खर्च कर लगातार सिर्फ लकीर पीट रही है.

ऐसे वक्त में न तो महिला फोन का इस्तेमाल कर सकती है और न ही किसी गैर पुरुष से बातचीत कर सकती है. इसे शौहर के इंतकाल के बाद काफी अहम भी माना जाता है. अब इसकी मियाद पूरी होने पर पुलिस ने शाइस्ता और जैनब फातिमा के अलावा आयशा नूरी की तलाश तेज कर दी है.

फरार आरोपियों की तलाश में लकीर पीट रही पुलिस

आरोपियों की गुरफ्तारी के लिए पुलिस कभी हटवा, मारियाडीह गांव में दबिश दे रही है. कभी जिले और जिले के बाहर लेकिन न तो 50 हजार रुपये की इनामिया शाइस्ता परवीन हाथ लगी न अशरफ की पत्नी जैनब फातिमा. वहीं, आयशा नूरी के साथ 5 लाख रुपये के इनामिया गुड्डू मुस्लिम, साबिर और अरमान के साथ गुलाम भी पुलिस के हत्थे नहीं चढ़े. अब इन्हें आसमान खा गया या जमीन निगल गई.

शहर में लगाए गए हैं हाईटेक एआई युक्त CCTV कैमरे

पुलिस ने इनकी गिरफ्तारी का जो प्लान अब बनाया है उससे लगता है कि फरार आरोपी जल्द पुलिस के हत्थे चढ़ेंगे. शहर भर में लगे हाईटेक सीसीटीवी कैमरों के जरिए पुलिस ने निगरानी तेज कर दी है. प्रयागराज पुलिस ने फरार चल रहे छोटे और बड़े अपराधियों को पकड़ने के लिए नई योजना तैयार की है.

डीसीपी ट्रैफिक अभिनव त्यागी के मुताबिक, इस योजना के तहत पुलिस 5 हजार हाईटेक HD सीसीटीवी कैमरे से निगरानी कर फरार चल रहे अपराधियों पर शिकंजा कसेगी. इन हाईटेक सीसीटीवी कैमरे में एआई डिवेलप किया गया है. एआई का मतलब है कि ये आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस कैमरों से लैस है. इसमें अपराधियों की तस्वीरें तक अपलोड की गई है. उनसे मिलते-जुलते अगर अपराधी इस कैमरे के इर्द-गिर्द नजर या कैमरे की रेंज में आता है तो पुलिस के पास हाई अलर्ट मैसेज तत्काल पहुंच जाएगा.

शहर में लगे सीसीटीवी कैमरों से निगरानी कर रही पुलिस

पुलिस ने उन स्थानों पर भी इस हाईटेक कैमरे को लगाया है, जहां फरार चल रहे अपराधी और माफिया अतीक अहमद से संबंधित अपराधियों का मूवमेंट अधिक रहता है. यह मैसेज पुलिस के उन मोबाइल पर भी जाएगा, जहां पर इस कैमरों की कनेक्टिविटी की गई होगी. पुलिस मान रही है कि अब वह दिन दूर नहीं जब इन हाईटेक सीसीटीवी कैमरों के जरिए फरार चल रहे अपराधी पुलिस की गिरफ्त में होंगे. सबसे ज्यादा पुलिस ने माफिया ब्रदर्स के संबंधित क्षेत्रों में इन हाईटेक सीसीटीवी कैमरे को इंस्टॉल किया है.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch