Monday , June 17 2024

महिला टीचर का आया 10वीं के छात्र पर दिल, पिता का आरोप- बेटे को शारीरिक संबंध बनाने के लिए उकसा रही

सांकेतिक तस्वीर.कानपुर/लखनऊ। यूपी के कानपुर से हैरान करने वाला मामला सामने आया है. शहर के मशहूर स्कूल की टीचर का स्कूल में पढ़ने वाले 10वीं कक्षा के छात्र पर दिल आ गया. आरोप है कि महिला शिक्षक छात्र को बहका रही है और शरीरिक संबंध बनाने का दबाव बना रही है. वह छाक्ष से अश्लील चैटिंग करती है और धर्म परिवर्तन का भी दबाव बना रही है. छात्र के पिता ने महिला शिक्षक के खिलाफ एएसपी को शिकायती पत्र सौंपा है. एएसपी ने संबंधित थाने को मामले की जांच के आदेश दिए हैं. बताया गया है कि महिला शिक्षक का पति और भाई भी इसी स्कूल में कार्यरत हैं.

शिक्षिका करती है शारीरिक संबंध बनाने की मांग

दरअसल, पूरा मामला कैंट थाना क्षेत्र में मौजूद निजी स्कूल का है. उन्नाव के रहने वाले शख्स ने कैंट क्षेत्र के एएसपी बृज नारायण सिंह को लिखित शिकायती आवेदन दिया है. शख्स ने बताया कि उसका बेटा स्कूल में 10वीं कक्षा में पढ़ता है. बेटे के स्कूल में मौजूद एक महिला शिक्षक बेटे से रात-रात भर फोन पर चैटिंग करती है. शारीरिक संबंध बनाने का दबाव बना रही है. पिता के मुताबिक, महिला शिक्षक बेटे पर धर्म परिवर्तन का दबाव बना रही है. उसका पति और भाई भी बेटे के स्कूल में हैं. तीनों मिलकर बेटे को दूसरा धर्म अपनाने के लिए बर्गला रहे हैं.

बेटे ने कर दी चैटिंग डिलीट- शिकायतकर्ता

पिता ने एसीपी को बेटे और महिला शिक्षक के बीच हुई चैटिंग के स्क्रीन शॉट भी उपलब्ध कराए हैं. वहीं, इस मामले पर एसीपी का कहना है कि महिला शिक्षक और छात्र के बीच हुई बातचीत के सबूत मिले हैं. मगर, शिकायतकर्ता से धर्म परिवर्तन का दबाव बनाने की बात का सबूत मांगा गया तो वह उपलब्ध नहीं करा सके हैं. पिता का कहना है कि बेटे ने काफी सारी चैटिंग डिलीट कर दी है.

मामले की जांच के आदेश जारी- एएसपी 

एएसपी के मुताबिक, मामले में कैंट थाना पुलिस को जांच के आदेश जारी कर दिए गए हैं. शारीरिक संबंध और धर्म परिवर्तन के लिए दबाव बनाए जाने की जांच की जा रही है. जो भी तथ्य सामने आएंगे उसके आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी. वहीं, छात्र के पिता का कहना है कि मैंने इस संबंध में पुलिस में शिकायत दर्ज करा दी है. पुलिस जांच कर रही है.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch