Tuesday , June 18 2024

केंद्र सरकार के कर्मचारियों-पेंशनर्स की मौज, सरकार ने 4% बढ़ाया महंगाई भत्ता, जानें अब कितना मिलेगा?

सरकारी खजाने पर कुल असर प्रति वर्ष 12,815.60 करोड़ रुपये होगा।- India TV Paisaकेंद्र सरकार (central govt) ने केंद्रीय कर्मचारियों-पेंशनर्स (Pensioners)को दिवाली से पहले एक तोहफा दिया है। मौजूदा फेस्टिवल सीजन के बीच, केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को केंद्र सरकार के कर्मचारियों (Central Government Employees) के लिए महंगाई भत्ते में 4 फीसदी की बढ़ोतरी (DA Hike)को मंजूरी दे दी है। इस फैसले से केंद्र सरकार के कर्मचारियों का डीए मौजूदा 42 फीसदी से बढ़कर 46 फीसदी हो जाएगा। कर्मचारियों को यह बढ़ोतरी 1 जुलाई 2023 से जोड़ कर दिया जाएगा।

खबर के मुताबिक, इस साल मार्च में केंद्रीय कैबिनेट ने महंगाई भत्ता (DA) और महंगाई राहत को 4 फीसदी बढ़ाकर 42 फीसदी कर दिया था। बिजनेस टुडे की खबर के मुताबिक, केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि सरकारी खजाने पर कुल असर प्रति वर्ष 12,815.60 करोड़ रुपये होगा। यह बढ़ोतरी 1 जनवरी, 2023 से प्रभावी थी। कैबिनेट ने पिछले साल सितंबर में दिवाली से कुछ हफ्ते पहले एक्स्ट्रा डीए में 4 फीसदी की बढ़ोतरी की थी।

लाखों कर्मचारियों के लिए खुश हो जाने वाला फैसला
देश के लाखों केंद्रीय कर्मचारियों (Central Government Employees) को इस फैसले के बाद फायदा होने वाला है। महंगाई भत्ते (Dearness Allowance) को सरकार की तरफ से सरकारी कर्मचारियों को दिए जाने वाले जीवन-यापन की लागत समायोजन भत्ते के रूप में परिभाषित किया जा सकता है। खबर के मुताबिक, औद्योगिक श्रमिकों के लिए लेटेस्ट उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई-आईडब्ल्यू) के आधार पर की जाती है। केंद्र सरकार के कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के महंगाई भत्ते की गणना के लिए एक तय फॉर्मूला है।

केंद्र सरकार के कर्मचारियों के लिए DA का फॉर्मूला
डीए% = [(पिछले 12 महीनों के लिए AICPI का औसत (आधार वर्ष 2001 = 100) – 115.76)/115.76] x 100

सार्वजनिक क्षेत्र के कर्मचारियों के लिए

डीए% = [(पिछले 3 महीनों के लिए AICPI का औसत (आधार वर्ष 2001 = 100) – 126.33)/126.33] x 100

कैबिनेट मीटिंग में लिए गए इस फैसले से 47 लाख कर्मचारियों और 68 लाख पेंशनभोगियों को फायदा होने की संभावना है। कैबिनेट ने केंद्र सरकार के रेलवे कर्मचारियों के लिए बोनस को भी मंजूरी दे दी है.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch