Sunday , February 25 2024

किसान आंदोलन में शामिल थी संसद में घुसपैठ करने वाली नीलम, कॉन्ग्रेस के लिए माँगा था समर्थन: 42 साल की आंदोलनजीवी की रिहाई के लिए मैदान में उतरा ‘संयुक्त किसान मोर्चा’

पुलिस की गिरफ्त में नीलमसंसद और संसद के बाहर कुल 6 लोगों ने हंगामा मचाने की योजना बनाई थी, जिसमें 4 गिरफ्तार कर लिए गए हैं, एक फरार है, जबकि एक व्यक्ति की पहचान की कोशिश की जा रही है। इसमें एक महिला नीलम भी है, जिसकी उम्र 42 साल है। उसके बारे में जानकारी मिल रही है कि वो काफी पढ़ी लिखी है, लेकिन अब पूरी तरह से आंदोलनजीवी बन चुकी है। वो तैयारी के नाम पर घर से बाहर हॉस्टल में रहती है और किसान आंदोलन जैसे तमाम मंचों पर सक्रिय रहती है। नीलम की गिरफ्तारी के बाद संयुक्त किसान मोर्चा उसके समर्थन में उतर गया है और नीलम की रिहाई की माँग की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, संसद भवन के बाहर हंगामा करने वाली 42 साल की महिला नीलम कौर हरियाणा की रहने वाली है। नीलम के परिवार में उसके भाई ने न्यूज एजेंसी ANI से बातचीत में कहा, “उनको इस बात की जानकारी नहीं थी कि नीलम दिल्ली में है। उसके हमें बताया था कि वो पढ़ाई के लिए हिसार में है। वो सोमवार को यहाँ आई थी और कल ही लौटी है। उसने बीए, एमए, बी.एड, एम.एड, एम.फिल की पढ़ाई की है, तो सीटीईटी और नेट भी पास आउट है। नीलम बेरोजगार है और किसानों के विरोध प्रदर्शनों में भी शामिल रही थी। वो 6 माह से हिसार से बाहर है।”

मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि नीलम किसान आंदोलन से लेकर दूसरे धरने और प्रदर्शनों में भी काफी एक्टिव रही हैं। चर्चा है कि नीलम प्रगतिशील आजाद युवा संगठन की संस्थापक है, लेकिन परिवार वालों का कहना है कि वह किसी संगठन से नहीं जुड़ी थी। वहीं, नीलम ने भी गिरफ्तारी के समय किसी संगठन से जुड़ाव को खारिज किया है। भारत सरकार हम जैसे युवाओं की आवाज दबाने की कोशिश कर रही है।

नीलम की माँ का कहना है कि वो बेरोजगारी को लेकर चिंतित थी, उन्होंने उससे बात की थी लेकिन उसने उन्हें दिल्ली के बारे में कभी कुछ नहीं बताया था। बकौल नीलम की माँ, वह उनसे कहती थी वह इतनी उच्च योग्य है लेकिन उसके पास कोई नौकरी नहीं है, इसलिए मर जाना बेहतर है।

इस बीच, अंकुर सिंह नाम के एक्स यूजर ने नीलम का एक वीडियो शेयर किया है, जो किसान आंदोलन के समय का लगता है। इस वीडियो में नीलम कॉन्ग्रेस और इनेलो के लिए समर्थन माँग रही है और बीजेपी का विरोध कर रही है।

इस बीच, संयुक्त किसान मोर्चा के सदस्य और किसान नेता आजाद पालवा इस बीच नीलम के घर पहुँचे। उन्होंने नीलम की रिहाई की माँग करते हुए कहा कि वे इस संबंध में किसान ‘संयुक्त किसान मोर्चा’ की मीटिंग भी बुला रहे हैं। उन्होंने कहा कि अगर नीलम को जल्द रिहा नहीं किया गया तो बड़ा कदम उठाया जाएगा।

बता दें कि बुधवार (13 दिसंबर 2023) को संसद पर साल 2001 में हुए हमले की 22वीं बरसी पर सुरक्षा चूक का मामला सामने आया। लोकसभा में कार्यवाही के दौरान दो प्रदर्शनकारी गैलरी से सदन में कूद गए, जिन्हें सांसदों ने ही पकड़ लिया और पुलिस के हवाले कर दिया। लोकसभा में ये घुसपैठ ठीक 1 बजकर 1 मिनट पर हुई। उस समय सदन में पश्चिम बंगाल के मालदा उत्तर सीट से भाजपा के लोकसभा सांसद खगेन मुर्मू अपनी बात रख रहे थे।

इस बीच लोकसभा में मौजूद सांसदों ने सुरक्षा घेरा तोड़ने वाले दोनों युवकों को पकड़ लिया। वहीं, संसद के बाहर से नीलम और एक अन्य युवक को गिरफ्तार किया गया। दोनों ने स्मोक फैलाने वाले कनस्तर को फोड़कर अफरातफरी मचाने की कोशिश की थी और नारेबाजी की थी। इस मामले में क्राइम ब्रांच से लेकर अन्य सुरक्षा एजेंसियाँ जाँच में जुट गई हैं, तो चारों गिरफ्तार आरोपितों से पूछताछ भी की जा रही है।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch