Sunday , February 25 2024

पाकिस्तान में भारत के दुश्मनों को आखिर कौन मार रहा, क्या अब दाऊद भी बना शिकार?

Dawood Ibrahim: पाकिस्तान में भारत के दुश्मनों को आखिर कौन मार रहा, क्या अब दाऊद भी बना शिकार?पाकिस्तान आतंक का पनाहगाह है, लेकिन अब वहां पनाह लेने वाले आतंकियों में ही दहशत है. भारत के इन दुश्मनों को एक-एक करके पाकिस्तान में मारा जा रहा है. किसी को गोली मारी जा रही है तो किसी को गला काटकर मौत के घाट उतारा जा रहा है. अब मुंबई ब्लास्ट का मास्टर माइंड दाऊद इब्राहिम अस्पताल में भर्ती है. दावा किया जा रहा है कि दाऊद को भी जहर दिया गया है. यानी साफ है कि दाऊद को मारने की कोशिश की गई है.

पाकिस्तान में कराची के एक अस्पताल में दाऊद इब्राहिम भर्ती है. वहां दाऊद की हालत चिंताजनक बताई जा रही है. पाक पत्रकारों ने खुद इसकी पुष्टि की है, पाकिस्तान में इंटरनेट बैन ने भी इन कयासों को बल दिया है. हालांकि ये साफ नहीं हो सका है कि दाऊद को वाकई जहर दिया गया है या नहीं. अगर दाऊद को भी जहर दिया गया है तो ये साफ है कि वह हिट लिस्ट का अगला निशाना था. दरअसल इस साल पाक में पनाह लिए भारत के कई दुश्नमों का खात्मा किया गया है, इनमें से कई लश्कर ए तैयबा, जैश ए मोहम्मद और खालिस्तानी मूवमेंट से जुड़े संगठनों से जुड़े आतंकी शामिल थे.

पाकिस्तान में मारे गए आतंकी

  1. जहूर मिस्त्री: पाकिस्तान में इसी साल 1 मार्च को खूंखार आतंकी जहूर मिस्त्री उर्फ जाहिद की हत्या की गई थी, वह 1999 में कंधार विमान अपहरण कांड में शामिल था. News9 ने खुफिया स्रोतों से इसकी जानकारी जानकारी दी थी. वह कराची में नाम बदलकर रह रहता था और फर्नीचर की दुकान चलाता था. उसे मोटरसाइकिल सवार अज्ञात व्यक्ति ने गोली मारी थी.
  2. बशीर अहमद पीर: हिजबुल मुजाहिद्दीन के कमांडर बशीर अहमद पीर को इसी साल 20 फरवरी को मारा था. वह पिछले साल ही भारत की हिट लिस्ट में शामिल हुआ था. बशीर को रावलपिंडी में अज्ञात हमलावरों ने गोली मारकर मौत के घाट उतारा था. वह भारत के खिलाफ कई अभियानों में शामिल रहा.
  3. परमजीत सिंह पंजवार: खालिस्तानी आतंकी परमजीत सिंह पंजवार को इसी साल छह मई को लाहौर में मार दिया गया था. पंजवार भारत में पिछले 30 साल से वॉन्टेड था. वह खालिस्तान कमांडो फोर्स का प्रमुख था, जिसे पंजाब में उग्रवाद को बढ़ावा देने वाला माना जाता था.
  4. मौलाना जिया उर रहमान : भारत का एक और मोस्ट वांटेड इसी साल 12 सितंबर को कराची में मारा गया था. इस आतंकी का नाम मौलाना जियाउर रहमान था. इसे भी बाइक सवार बदमाशों ने दिन दहाड़े गोली मारी थी. यह लगातार भारत के प्रति आतंक की साजिश रचता था.
  5. मुफ्ती कैसर फारूक : मुंबई हमले का मोस्ट वॉन्टेड हाफिज सईद का सबसे करीबी कैसर फारुक इसी साल 1 अक्टूबर को मारा गया था. वह लश्कर के संस्थापक सदस्यों में था. कैसर फारुक भी भी कराची में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.
  6. शाहिद लतीफ : भारत का एक और मोस्ट वॉन्टेड शाहिद लतीफ को भी 12 अक्टूकर को पाकिस्तान के पंजाब में मार गिराया गया था. यह हमला उस वक्त हुआ था जब वह नमाज अदा कर बाहर आ रहा था. सियालकोट में हुए उस हमले में उसके दो साथियों की भी मौत हुई थी. यह हमला भी बाइक सवार बदमाशों ने किया था.
  7. ख्वाजा शाहिद : लश्कर-ए-तैयबा का कमांडर ख्वाजा शाहिद इसी 6 नवंबर को मारा गया. यह 2018 में जम्मू में सेना कैंप पर हुए हमले में शामिल था. ख्वाजा को सिर काटकर मारा गया था. ऐसा दावा किया जा रहा है कि हत्या से पहले ख्वाजा का अपहरण किया गया था. उसका शव पीओके में मिला था.
  8. अकरम गाजी : ख्वाजा शाहिद की हत्या के तीन दिन बाद ही भारत के एक और दुश्मन अकरम गाजी को मार गिराया गया. उसे पाकिस्तान के बाजापुर में गोली मारी गई. गाली LAT यानी लश्कन ए तैयबा का सक्रिय सदस्य था और हाफिज सईद का विश्वासपात्र भी था.
  9. रहीम उल्लाह तारिक : भारत विरोधी तकरीरें करने वाले रहीम उल्लाह तारिक को इसी साल 13 नवंबर को गोली मारी गई थी. वह मसूद अजहर का करीबी था. रहीम उल्लाह तारिक को भी कराची में गोली मारी गई थी. वह जैश ए मोहम्मद आतंकी संगठन से जुड़ा था.
  10. मोहम्मद मुजम्मिल: इस साल 14 नवंबर को लश्कर ए मोहम्मद के आतंकी मोहम्मद मुजम्मिल को गोली मार दी गई थी. मुजम्मिल को भी बाइक सवार बदमाशों ने गोली मारकर मौत के घाट उतारा था. मुजम्मिल के साथ उसका एक साथी भी मारा गया था.
साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch