Wednesday , February 28 2024

कर्नाटक में अभी नहीं हटा हिजाब से बैन, CM सिद्धारमैया ने किया साफ, ओवैसी का तंज- मुस्लिम वोटर्स खुश होंगे

कर्नाटक में हिजाब पर बैन के मामले में ओवैसी ने सीएम सिद्धारमैया पर तंज कसा हैकर्नाटक के शिक्षण संस्थानों में हिजाब पर प्रतिबंध को खत्म करने की खबरों के बीच सीएम सिद्धारमैया का नया बयान सामने आया है. उन्होंने कहा कि हमने अभी तक ऐसा (हिजाब पर प्रतिबंध हटाने का फैसला) नहीं किया है. किसी ने मुझसे हिजाब पर प्रतिबंध हटाने पर सवाल पूछा था. इस पर मैंने जवाब दिया कि सरकार इसे रद्द करने पर विचार कर रही है. इसे लेकर AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने उन पर तंज कसा है. ओवैसी ने कहा कि आपको सत्ता में आए 6 महीने से ज्यादा हो गए हैं. लेकिन आप अभी तक यही सोच रहे हैं कि मुस्लिम लड़कियों को शिक्षा का अधिकार होना चाहिए या नहीं. इसमें विचार करने की क्या बात है?

ओवैसी ने सिद्धारमैया पर निशाना साधते हुए कहा कि यह स्पष्ट करने के लिए मुख्यमंत्री का धन्यवाद कि ‘धर्मनिरपेक्ष’ कांग्रेस सरकार द्वारा हिजाब पर प्रतिबंध अभी भी लागू किया जा रहा है. साथ ही तंज कसते हुए कहा कि जिन मुसलमानों ने आपको वोट दिया. वे बहुत खुश होंगे.

बता दें कि कर्नाटक के शैक्षणिक संस्थानों में हिजाब पर बैन हटाने की शुरआती खबरों के बीच बीजेपी कांग्रेस पर हमलावर हो गई थी. बीजेपी ने इस फैसले की आलोचना करते हुए कहा कि सीएम सिद्धारमैया का निर्णय वोटों की खातिर लिया गया निर्णय है और हमारे शैक्षणिक स्थानों की धर्मनिरपेक्ष प्रकृति के बारे में चिंता पैदा करता है.

कर्नाटक सरकार में मंत्री प्रियांक खड़गे ने कहा था कि मुझे नहीं लगता कि बीजेपी संविधान के बारे में जानती है. हम सब कुछ कानून के दायरे में ही कर रहे हैं.. बीजेपी को संविधान पढ़ना चाहिए.. कोई भी कानून/नीति/योजना जो भी हो कर्नाटक के लिए अच्छा नहीं है और प्रगति को नजरअंदाज कर रहा है तो यदि आवश्यकता हुई तो उस कानून या नीति को हटा दिया जाएगा.

कर्नाटक बीजेपी के अध्यक्ष बीवाई विजयेंद्र ने कहा किशैक्षणिक संस्थानों में धार्मिक पोशाक की अनुमति देकर सिद्धारमैया सरकार युवा दिमागों को धार्मिक आधार पर विभाजित करने को बढ़ावा दे रही है. विभाजनकारी प्रथाओं पर शिक्षा को प्राथमिकता देना महत्वपूर्ण है जहां छात्र धार्मिक प्रथाओं के प्रभाव के बिना शिक्षाविदों पर ध्यान केंद्रित कर सकें.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch