Sunday , February 25 2024

वाक्कुशल सुधांशु त्रिवेदी, कॉन्ग्रेस से आए RPN सिंह, हरियाणा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला… BJP की राज्यसभा वाली लिस्ट आ गई, देखें किस राज्य से किनका नाम

सुभाष बराला, सुधांशु त्रिवेदी, RPN सिंहभाजपा ने राज्यसभा के चुनाव को लेकर अपनी सूची जारी की है, जिसमें उत्तर प्रदेश, बिहार, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, हरियाणा, उत्तराखंड और पश्चिम बंगाल की सीटों से नाम तय किए गए हैं। उत्तर प्रदेश कोटे से सुधांशु त्रिवेदी को फिर से राज्यसभा भेजा जाएगा। वहीं हरियाणा में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष रहे सुभाष बराला भी राज्यसभा भेजे जाएँगे। उत्तर प्रदेश से RPN सिंह भी राज्यसभा भेजा गया है। वो कॉन्ग्रेस छोड़ कर भाजपा में आए थे। बिहार के डॉ धर्मशील गुप्ता और भीम सिंह का नाम है।

भीम सिंह अति-पिछड़ा समाज से आते हैं। वहीं डॉ धर्मशील गुप्ता वैश्य समाज से आते हैं। राज्यसभा वाली लिस्ट में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम माँझी और पूर्व उप-मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी का नाम नहीं है। NDA के पास बिहार में 3 सीटें हैं, जिनमें से 2 पर उम्मीदवार उतारे गए हैं और एक पर जदयू नेता संजय झा को राज्यसभा भेजा जा सकता है। यूपी से लिस्ट में चौधरी तेजवीर सिंह, साधना सिंह, अमरपाल मौर्य, संगीता बलवंत और नवीन जैन का भी नाम है।

पश्चिम बंगाल से सामिक भट्टाचार्य, उत्तराखंड से महेंद्र भट्ट, कर्नाटक से नारायणा कृष्णासा भांडगे और छत्तीसगढ़ से देवेंद्र प्रताप सिंह को भी इस सूची में डाला गया है। ये सब राज्यसभा सांसद बनेंगे। बता दें कि देश भर में 56 सीटों के लिए 27 फरवरी, 2024 को राज्यसभा के चुनाव होने हैं। 15 फरवरी नामांकन दाखिल करने की अंतिम तिथि है, जबकि 20 फरवरी तक नामांकन वापस लिया जा सकता है। सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक मतदान होगा।

इससे पहले TMC ने भी अपनी सूची जारी की है, जिसमें सागरिका घोष, ममता बाला ठाकुर, सुष्मिता देव और नदीमुल हक़ का नाम है। सागरिका घोष ने इंदिरा गाँधी पर एक किताब लिख रखी है। मार्च 2018 में उनकी इस अंग्रेजी किताब का हिन्दू अनुवाद ‘इंदिरा: भारत की सबसे शक्तिशाली प्रधानमंत्री’ Amazon पर लिस्ट हुई थी। उन्होंने जब इस बारे में ट्वीट किया तो अजय खंडेलवाल नामक एक शख्स ने तंज कसा कि सागरिका घोष को राज्यसभा टिकट नहीं दिया गया। इस पर जवाब देते हुए सागरिका ने लिखा, “हाहा! मैं कभी कोई RS टिकट, PS टिकट या CS टिकट किसी भी राजनीतिक पार्टी से स्वीकार नहीं करूँगी सर।”

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch