Sunday , June 16 2024

’13 करोड़ रुपये से अधिक का फ्रॉड’, ICICI के बैंक मैनेजर पर महिला का बड़ा आरोप

'13 करोड़ रुपये से अधिक का फ्रॉड', ICICI के बैंक मैनेजर पर महिला का बड़ा आरोपएक महिला ने ICICI के ब्रांच मैनेजर पर उससे करीब 16 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी करने का आरोप लगाया है। बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, इस महिला का नाम श्वेता शर्मा है। उन्होंने कहा कि मैंने अपने अमेरिकी खाते से आईसीआईसीआई बैंक अकाउंट में पैसे भेजे थे। उन्हें उम्मीद थी कि यह एफडी में तब्दील हो जाएगा। शर्मा ने आरोप लगाया, ‘बैंक अधिकारी ने मेरे खातों से पैसे निकालने के लिए फेक अकाउंट खोले और फर्जी साइन किए। इसके बाद मेरे नाम पर डेबिट कार्ड और चेक बुक भी जारी करवा दिया। ऑफिसर ने मुझे फर्जी स्टेटमेंट दिखाए। मेरे नाम पर फेक ईमेल आईडी बनाई और बैंक रिकॉर्ड में मेरा मोबाइल नंबर बदल दिया। इससे पैसे निकालने पर जानकारी मुझे तक नहीं पहुंच पाई।’

दरअसल, श्वेता शर्मा और उनके पति कई दशकों तक अमेरिका व हांगकांग में रहे। इसके बाद 2016 में वे भारत लौटे। यहां उनके एक दोस्त ने कहा कि अमेरिकी बैंक में पैसा जमा रखने पर ब्याज काफी कम मिलता है। इसलिए उन्हें अपना पैसा भारत में जमा करना चाहिए। हमारे देश में एफडी करने पर 5.5 से 6 फीसद की दर से ब्याज मिल सकता है। इसके बाद वह गुरुग्राम में स्थित आईसीआईसीआई बैंक की एक ब्रांच में गईं। यहां उन्होंने NRI अकाउंट खोला। 2019 में उन्होंने अमेरिकी बैंक खाते से ICICI बैंक अकाउंट में पैसे भेजने शुरू किए। दिसंबर 2023 तक उन्होंने करीब साढ़े 13 करोड़ रुपये जमा कर दिए। इस पर ब्याज जोड़ लें तो रकम 16 करोड़ रुपये तक पहुंचती है।

श्वेता शर्मा ने कहा, ‘हमें इस धोखाधड़ी की जानकारी जनवरी, 2024 में मिली। हमें पता चला कि सभी फिक्स डिपाजिट गायब हैं और जमा राशि पर ढाई करोड़ रुपये का ओवरड्राफ्ट भी लिया गया था। मैंने इसे लेकर बैंक के अधिकारियों से शिकायत की। 16 जनवरी को ऑफिसर्स के साथ पहली बैठक हुई। इसमें बैंक के रीजनल और जोनल प्रमुख के अलावा इंटरनल इंटेलिजेंस के प्रमुख से मुलाकात हुई। उन्होंने स्वीकार किया कि ब्रांच मैनेजर ने धोखाधड़ी की है।’ बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, आईसीआईसीआई बैंक के प्रवक्ता ने धोखाधड़ी के इस दावे के सही बताया है। उन्होंने कहा, ‘ICICI में लाखों लोगों के खरबों रुपये जमा हैं। इस मामले में जो लोग भी शामिल हैं, उन्हें सजा मिलेगी।’

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch