Thursday , June 20 2024

बदायूं डबल मर्डर केस: साजिद की बीवी के बारे में बड़ा खुलासा, दूसरे आरोपी जावेद पर इनाम का ऐलान

आरोपी साजिद के पिता, चाचा को हिरासत में लिया गया (साभार: वीडियो स्क्रीनग्रैब्स/इंडिया टुडे)उत्तर प्रदेश के बदायूं में दोहरे हत्याकांड को अंजाम देने के बाद एनकाउंटर में मारे गए हत्यारोपी साजिद की पत्नी के बारे में खुलासा हुआ है. उसकी पत्नी सना बिल्कुल ठीक है. वो ना अस्पताल में भर्ती है, ना ही गर्भवती है और ना ही उसके इलाज के लिए पांच हजार की जरूरत थी. वो तो बीते 15 दिनों से अपने मायके में रह रही है. साजिद खुद उसे ले जाकर अपने ससुराल छोड़ा था. वो अपनी मां मिस्कीन के साथ रही है.

ऐसे में सवाल यह भी उठ रहा है कि क्या साजिद ने इस हत्याकांड की साजिश पहले से रची हुई थी? क्योंकि वो 15 दिन पहले ही अपनी पत्नी को मायके छोड़कर आ गया था. इसके अलावा वारदात वाले दिन भी वो अपनी दुकान जल्दी बंद करके चला गया था. इसके बाद रात करीब आठ बजे वो अपने भाई जावेद के साथ ठेकेदार विनोद के घर पहुंचा. उस समय विनोद की पत्नी संगीता अपनी तीन बच्चों के साथ थी.

पत्नी की बीमारी का बहाना बनाकर मांगे पांच हजार रुपए

बदायूं शहर के मंडी समिति चौकी के पास बाबा कॉलोनी में स्थित विनोद के घर में पहुंचने के बाद हत्यारोपी साजिद ने संगीता से चाय बनाने के लिए कहा था. इसके साथ ही उसने अपनी पत्नी सना की बीमारी का बहाना बनाकर पांच हजार रुपए उधार भी मांगे थे. अभी संगीता चाय लेकर आती उससे पहले वो घर की छत पर पहुंच गया, जहां विनोद के तीनों बच्चों खेल रहे थे. उसने एक बच्चे को पानी लान के बहाने नीचे भेज दिया.

इसके बाद उस्तरे से दो बच्चों पर जानलेवा हमला कर दिया. इसमें 12 वर्षीय आयुष और 8 वर्षीय अहान उर्फ हनी की मौत हो गई, जबकि युवराज घायल हो गया. बच्चों की आवाज सुनकर मां उपर देखी तो साजिद और जावेद खून से सने उस्तरे लिए नीचे आते दिखाई दिए. घर में हाहाकार मच गया. दोनों आरोपी वारदात को अंजाम देने के बाद फरार हो गए. आरोपियों के दूसरे समुदाय के होने से बदायूं के लोगों का गुस्सा भड़क उठा.
crime
पुलिस एनकाउंटर में मारे गए हत्यारोपी साजिद के ससुराल में उसकी पत्नी सना मौजूद है.

वारदात के बाद ईंट से ईंट बजाने पर आमादा हुए लोग

हंगामा पर उतारू भीड़ ने तोड़-फोड़ और आगजनी के जरिए अपना गुस्सा निकाला. मोहल्ले के लोग पूरे इलाके में ईंट से ईंट बजाने पर आमादा हो गए. वारदात की सूचना मिलते ही भारी संख्या में पुलिस बल पहुंच गई. लोगों की किसी तरह से शांत किया गया. पुलिस ने मोबाइल सर्विलांस के जरिए आरोपियों की लोकेशन ट्रेस करनी शुरू कर दी. इसी दौरान साजिद का लोकेशन पुलिस को मिल गया. पुलिस टीम ने उसे चारों तरफ से घेर लिया.

पुलिस को देखते ही साजिद गोली चलाने लगा. इसके बाद पुलिस की जवाबी कार्रवाई में वो मारा गया. पुलिस उसके भाई की तलाश कर रही है. इस घटना में दो अन्य लोगों के शामिल होने की बात भी सामने आ रही है. पुलिस उनकी तलाश के साथ हत्या की वजह भी खोज रही है, जो कि अभी तक सामने नहीं आई है. पहले बताया गया कि विनोद और साजिश के बीच झगड़ा था. उसी रंजिश में उसने उस खौफनाक वारदात को अंजाम दिया है.

लेकिन विनोद ने साफ इनकार कर दिया है कि उनके बीच किसी तरह की दुश्मनी थी. बाबा कॉलोनी में मजिया रोड के रहने वाले ठेकेदार विनोद ‘हर घर जल योजना’ के तहत ओवरहेड टैंक का निर्माण कराते हैं. उनके मकान के सामने ही कस्बा सखानू के रहने वाले साजिद की बाल काटने की दुकान है. विनोद की पत्नी संगीता अपने मकान के निचले हिस्से में ब्यूटी पार्लर चलाती हैं. दोनों के ग्राहक अलग हैं, ऐसे में व्यापारिक दुश्मनी भी नहीं थी.

crime

आरोपी जावेद के सिर पर 25 हजार रुपए के इनाम का ऐलान

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी ने बताया कि दोनों बच्चों का पोस्टमार्टम करा दिया गया है. आरोपी साजिद का पोस्टमार्टम चल रहा है. दूसरे आरोपी जावेद की गिरफ्तारी के लिए पांच टीम में लगा दी गई हैं. उसके सिर पर 25 हजार रुपए का इनाम भी रखा गया है. फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है. इस मामले की जांच की जा रही है. इस घटना का कारण पूछने पर एसपी ने बताया कि परिजनों की तहरीर के आधार पर फिलहाल जांच हो है.

एसपी ने कहा कि जावेद की गिरफ्तारी के बाद वारदात की वजह सामने आएगी. कानून व्यवस्था दुरुस्त है. किसी प्रकार की कोई तनाव की स्थिति नहीं है. पुलिस चप्पे-चप्पे पर तैनात है. हर स्थिति पर नजर बनाए हुए है. किसी भी प्रकार की कोई अप्रिय घटना नहीं होने दी जाएगी. साजिद और जावेद के पिता बाबू और चाचा कयामुद्दीन को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है. दोनों बच्चों की हत्या पर अफसोस जताते हुए एनकाउंटर को सही बताया है.

मृतक बच्चों के पिता की तहरीर पर बदायूं के सिविल लाइंस थाने में क्राइम नंबर 191/24 पर एफआईआर दर्ज हुई है. पुलिस ने आईपीसी की धारा 452, 302 और 307 के तहत केस दर्ज किया है. इसमें साजिद के साथ जावेद को भी नामजद किया गया है. एफआईआर के मुताबिक, मंगलवार 6:45 से 7:00 के बीच बाइक से साजिद और जावेद विनोद के घर पहुंचे. साजिद घर के अंदर पहले गया था, जबकि भाई जावेद बाइक लेकर घर के बाहर ही खड़ा था.

crime

डीएम ने एनकाउंटर की मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए

बदायूं के डीएम मनोज कुमार ने बताया कि हमे सूचना मिली है कि मंडी समिति चौकी के पास बाबा कॉलोनी के एक घर में घुसकर एक शख्स ने 11 और 6 साल के दो छोटे बच्चों की हत्या कर दी. इसके बाद लोगों में हड़कंप मच गया. लोगों से शांति बनाए रखने के लिए कहा गया है. दोनों बच्चों के शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है. अभी तक हत्या की वजह साफ नहीं हो पाई है. आरोपी पुलिस एनकाउंटर में मारा गया है. एनकाउंटर की मजिस्ट्रेट जांच के लिए आदेश दिए गए हैं. सिटी मजिस्ट्रेट से इसकी जांच करके 15 दिन में रिपोर्ट देने का आदेश दिया गया है.

बरेली के आईजी राकेश कुमार ने बताया कि इस वारदात की सूचना मिलने पर पुलिस टीम मौके पर पहुंची. आरोपी वहां से भागने की कोशिश कर रहा था. पुलिस को देखते ही उसने फायरिंग शुरू कर दी. इसके बाद जवाबी कार्रवाई में मारा गया. आरोपी की मौके पर ही मौत हो गई. आरोपी की उम्र 25 से 30 साल के बीच है. इस हमले में दो बच्चों की मौत हो चुकी है. एक बच्चा गंभीर रूप से घायल है. उसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

डीजीपी प्रशांत कुमार ने बताया कि मंगलवार शाम आठ बजे की घटना है. साजिद नामक व्यक्ति अपनी दुकान के सामने विनोद सिंह के घर में गया था. इसके बाद उनकी पत्नी से चाय बनाने के लिए कहा था. अचानक उसने विनोद के तीन बच्चों पर जानलेवा हमला कर दिया. उसने दो बच्चों की हत्या कर दी. तीसरे बच्चे को चोट लगी है. वारदात के बाद आरोपी पुलिस एनकाउंटर में मारा गया है. पहले लोग थोड़े उत्तेजित थे, लेकिन अब शांति है.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch