Saturday , June 15 2024

स्वाति मालीवाल केस की जांच के लिए सीएम आवास पहुंची दिल्ली पुलिस और फॉरेंसिक टीम

स्वाति मालीवालदिल्ली सीएम के आवास पर राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल के साथ बदसलूकी मामले में पुलिस ने आरोपी विभव कुमार के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है. शुक्रवार को स्वाति के मजिस्ट्रेट के सामने सीआरपीसी की धारा 164 के तहत बयान दर्ज करवाए गए हैं. शुक्रवार सुबह स्वाति को लेकर दिल्ली पुलिस उनके घर सीआर पार्क से निकली थी.

इससे पहले गुरुवार देर रात स्वाति का मेडिकल एग्जामिनेशन कराया गया है. इसकी रिपोर्ट भी आज आ जाएगी. वहीं, राष्ट्रीय महिला आयोग ने आज विभव कुमार को भी तलब किया है. हालांकि, विभव के बारे में कोई जानकारी नहीं है. सिविल लाइंस थाना पुलिस ने विभव के खिलाफ धारा 32, 506, 509 और 354 के तहत एफआईआर दर्ज की है.

– दिल्ली पुलिस और FSL टीम मामले की जांच को लेकर सीएम हाउस पहुंची है.

– दिल्ली कांंग्रेस चीफ देवेंद्र यादव ने इस मामले में कहा कि सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए अगर किसी महिला के साथ कुछ अत्याचार हुआ है तो. सही से जांच होनी चाहिए और उसके बाद कुछ निकलता है तो सख्त कार्रवाई होनी चाहिए.

– NCW ने एक्स पर पोस्ट किया और लिखा, एनसीडब्ल्यू के अधिकारियों ने दिल्ली के सिविल लाइन्स के एसीपी के साथ मिलकर विभव कुमार को उनके आवास पर सुनवाई का नोटिस देने का प्रयास किया. जब घर में रहने वालों ने नोटिस लेने से इनकार कर दिया तो अधिकारियों ने इसे उनके आवास के गेट पर चिपका दिया. अब सुनवाई 18 मई को एनसीडब्ल्यू कार्यालय में निर्धारित है.

– बीजेपी नेता राधिका खेड़ा ने कहा, AAP और कांग्रेस, ये दोनों पार्टियां महिला विरोधी पार्टी हैं. अगर इतनी बड़ी घटना घटी है और खुद संजय सिंह ने इसे स्वीकार किया है. FIR दर्ज हो गई है तो फिर वो (विभव कुमार) अरविंद केजरीवाल के साथ क्यों घूम रहा है? अगर उनकी ही पार्टी की राज्यसभा सांसद सीएम कार्यालय में सुरक्षित नहीं है तो वो महिला सुरक्षा के नाम पर वोट कैसे मांग सकते हैं? कांग्रेस कार्यालय में प्रियंका गांधी वाड्रा कैसे कह सकती हैं- ‘लड़की हूं, लड़ सकती हूं’?

– दिल्ली पुलिस ने इस वीडियो को संज्ञान लिया है. दिल्ली पुलिस के सूत्रों का कहना है कि ये वीडियो किसने बनाया और इसके अलावा वहां मौजूद लोगों ने क्या अन्य वीडियो भी बनाए हैं, इसकी जानकारी ले रहे हैं. पुलिस सूत्रों का कहना है कि ये वीडियो कुछ चंद सेकंड का है. इसके आगे भी और वीडियो हो सकते हैं, इसको लेकर वहां मौजूद लोगों से पूछताछ की जाएगी. उस दिन कितने लोग CM हाउस में गए थे, उनका अटेंडेंस रजिस्टर्ड चेक किया जाएगा. ड्राइंग रूम में उस वक्त कौन-कौन लोग मौजूद थे, उन सभी का मोबाइल भी जांच के लिए लिया जा सकता है. वेटिंग एरिया में अगर सीसीटीवी कैमरा लगे हैं तो उसकी भी फुटेज की जांच की जाएगी.

– धारा 164 के तहत अपना बयान दर्ज कराने के बाद जब स्वाति मालीवाल कोर्ट से बाहर आईं तो साफ देखा जा सकता था कि स्वाति मालीवाल ठीक से चल भी नहीं पा रही थीं. उनके पैर में चोट लगी है और वो धीरे-धीरे नीचे आ रही थीं. हालांकि आजतक ने उनसे कई बार सवाल किए लेकिन उन्होंने जवाब नहीं दिया.

– स्वाती मालीवाल ने एक्स पर पोस्ट किया और लिखा, हर बार की तरह इस बार भी इस राजनीतिक हिटमैन ने खुद को बचाने की कोशिशें शुरू कर दी हैं. अपने लोगों से ट्वीट्स करवा के, आधी बिना संदर्भ की वीडियो चलाकर इसे लगता है ये इस अपराध को अंजाम देकर खुद को बचा लेगा. कोई किसी को पीटते हुए वीडियो बनाता है भला? घर के अंदर की और कमरे की CCTV फुटेज की जांच होते ही सत्य सबके सामने होगा. जिस हद तक गिर सकता है- गिर जा. भगवान सब देख रहा है. एक ना एक दिन सब की सच्चाई दुनिया के सामने आएगी.

– स्वाति मालीवाल से बदसलूकी और मारपीट के मामले में एक नया वीडियो सामने आया है. यह वीडियो 13 मई का है और मुख्यमंत्री आवास के अंदर का बताया जा रहा है. हालांकि आजतक इस वीडियो की पुष्टि नहीं करता है. वीडियो में दिख रहा है कि स्वाति मालीवाल सीएम हाउस के अंदर बैठी हैं, जहां कुछ कर्मचारी उन्हें बाहर जाने को कहते हैं. इस दौरान वो विभव पर गुस्सा हो रही है. स्वाती को कहते सुना जा रहा है कि आज मैं इन सब लोगों को बताऊंगी. जो करना है करो. हाथ लगाया तो तुम्हारी भी नौकरी खाऊंगी…

– स्वाति मालीवाल के तीसरी हजारी कोर्ट में बयान दर्ज हो गए हैं.

 दिल्ली पुलिस की टीम विभव कुमार के सिविल लाइंस स्थित आवास पर पहुंची, लेकिन गार्डों ने पुलिस को अंदर जाने की इजाजत नहीं दी. कार में दो महिला पुलिस अधिकारियों के साथ पांच पुलिसकर्मी मौजूद थे. लेकिन उन्हें अंदर घुसने नहीं दिया गया. उन्होंने मीडिया से कोई बातचीत नहीं की है.

– मैं दिल्ली में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मिलने गई उनके कैंप ऑफिस गई थी.ऑफिस जाने के बाद सीएम के पीएस बिभव कुमार को फोन किया, लेकिन मुझसे संपर्क नहीं हो सका. फिर मैंने उसके मोबाइल नंबर पर (वॉट्सएप के जरिए) एक मैसेज भेजा. हालांकि कोई जबाब नहीं आया. उसके बाद मैं घर के मुख्य दरवाजे से अंदर गई, जैसा कि मैं पिछले सालों से हमेशा से करती आई हूं. चूंकि विभव कुमार वहां मौजूद नहीं थे, इसलिए मैं घर के अंदर दाखिल हुई और वहां मौजूद कर्मचारियों को सूचित किया कि वो सीएम से मिलने के बारे में बताएं. मुझे बताया गया कि वा घर में मौजूद है और मुझे ड्राइंग रूम में जाने के लिए कहा गया. मैं ड्राइंग रूम में जाकर सोफे पर बैठ गई और मिलने का इंतजार करने लगी. एक स्टाफ ने आकर मुझे बताया कि सीएम मुझसे मिलने आ रहे हैं. इतना कहने के बाद सीएम के पीएस विभव कुमार कमरे में घुस आए. वो बिना किसी उकसावे पर चिल्लाने लगा और यहां तक ​​कि मुझे गालियां भी देने लगा. मैं इस अचानक घटना से स्तब्ध रह गई. मैंने उससे कहा कि वो मुझसे इस तरह बात करना बंद करे और सीएम को फोन करे. उसने कहा  तू कैसे हमारी बात नहीं मानेगी?

-स्वाती का कहना था कि उसने मुझे थप्पड़ मारना शुरू कर दिया. उसने मुझे कम से कम 7-8 बार थप्पड़ मारे. मैं चिल्लाती रही. मैं बिल्कुल सदमे में थी और बचाव के लिए उसे धकेलने की कोशिश की. वो मुझ पर झपटा और बुरी तरह मेरी शर्ट को ऊपर खींच लिया. मेरी शर्ट के बटन खुल गए और मैं नीचे गिर गई और सेंटर टेबल पर मेरा सिर मार दिया. मैं लगातार मदद के लिए चिल्लाती रही. बिभव कुमार नहीं माना और अपने पैरों से मेरी छाती, पेट और शरीर के निचले हिस्से पर लात मारकर मुझ पर हमला किया. मुझे पीरियडस हो रहे थे. मैंने उससे कहा कि मुझे जाने दें. क्योंकि मैं बहुत दर्द में हूं. हालांकि, उसने बार-बार पूरी ताकत से मुझ पर हमला किया. मैं कोशिश कर रही थी कि किसी तरह से बाहर निकल जाऊं. फिर मैं ड्राइंग रूम के सोफे पर बैठ गई और हमले के दौरान चश्मा नीचे गिर गया. इस हमले से मैं भयानक सदमे की स्थिति में थी. मुझे गहरा सदमा लगा और मैंने 112 नंबर पर फोन किया और घटना की सूचना दी. बिभव ने मुझे धमकी देते हुए कहा, कर ले, जो तुझे जो करना है. तू हमारा कुछ नहीं कर पाएगी. ऐसी जगह गाड़ देंगे किसी को भी पता नहीं चलेगा. फिर जब उसे एहसास हुआ कि मैं 112 नंबर पर हूं तो वो कमरे से बाहर चला गया.
स्वाति मालवीय के तीस हजारी कोर्ट में बयान रिकॉर्ड हो रहे हैं. स्वाति यहां कोर्ट नंबर 202 में जज कात्यायिनी शर्मा कंडवाल के सामने बयान दर्ज हो रहे हैं.

– स्वाति मालीवाल ने एफआईआर में लिखा, यह मेरे जीवन के सबसे कठिन समय में से एक है. दर्द, ट्रॉमा और उत्पीड़न ने दिमाग को सुन्न कर दिया है. हमले के बाद से मेरे सिर और गर्दन में लगातार दर्द हो रहा है. मेरी बॉडी में बहुत दर्द है और पेट में भी दर्द हो रहा है. मुझे चलने में भी दिक्कत हो रही है. मेरी स्थिति इस फैक्ट से और भी बदतर हो गई है कि महिलाओं के मुद्दों के लिए जीवनभर काम करने और लाखों महिलाओं को न्याय दिलाने में मदद करने के बाद मुझे एक ऐसे व्यक्ति द्वारा बेरहमी से पीटा गया, जिसे मैं लंबे समय से जानती हूं. मैं इस घटना से बहुत परेशान हूं और हैरान भी हूं कि कोई इस तरह की गुंडई जैसा व्यवहार कैसे दिखा सकता है. मैं पूरी तरह टूटी हुई महसूस कर रही हूं.

– वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का कहना था कि CM के घर में, जब CM खुद बैठे हुए हैं, तब विभव कुमार ने बदतमीजी की है. केजरीवाल को सामने आकर खुद माफ़ी मांगनी चाहिए. अगले दिन 14 मार्च को संजय सिंह ने कहा- कार्रवाई होगी. कहां कार्रवाई हो रही है. केजरीवाल लखनऊ में घूम रहे हैं विभव के साथ. दिल्ली में सब महिलाओं के मन में एक ही सवाल है- ये सीएम क्या रक्षा करेगा महिलाओं की? आम आदमी पार्टी का चरित्र देखिए. मेरे बगल में शाजिया इल्मी हैं. शाजिया आम आदमी पार्टी में थीं. शाजिया ने कहा था- आम आदमी पार्टी से लोगों को बाउंसर से पिटवाकर बाहर निकलवाया जाता है. इस पार्टी में ऐसे चमत्कारी नेता हैं जो महिलाओं के साथ बदसलूकी करते हैं. पंजाब में एक YouTuber है, जिसने कॉलेज के बाहर महिलाओं के साथ जो हुआ वो दिखाया. पंजाब सरकार ने इस YouTuber पर कार्रवाई की. संजय सिंह ने Women Reservation Bill पर कहा था कि महिलाओं को बेवकूफ बनाओ बिल है. हमने तो महिलाओं को प्रत्याशी बनाया है. आम आदमी पार्टी ने कितनी महिलाओं को टिकट दिया? मैं सीधा आरोप अरविंद केजरीवाल पर लगाती हूं.स्वाती मालीवाल कल चल नहीं पा रहीं थी. एक महिला के बॉडी के नीचे के हिस्से पर अटैक किया गया, ये अविश्वसनीय है.

– वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा, लगातार 13 मई से आज तक सीएम केजरीवाल ने अपनी पार्टी की महिला सदस्य पर हमले के संबंध में एक भी शब्द नहीं कहा. महिलाओं के बारे में बात करने वाले पर सीएम ने कुछ नहीं बोला. सीएम के घर में उनका दाहिना हाथ माना जाने वाला विभव कुमार ने राज्यसभा सदस्य और महिला आयोग की पूर्व सदस्य के साथ हुई घटना पर बयान नहीं दिया. संजय सिंह ने 14 मई को कहा कि वे कार्रवाई करेंगे, लेकिन विभव कुमार के साथ आप घूम रहे हो. बेशर्मी की हद है. सवाल पूछने पर बेशर्मी और डर के कारण माइक को दूसरी ओर घुमा रहे हो. दिल्ली का सीएम महिलाओं को क्या सुरक्षा देगा. वे हर महिला और पुरुष नेता को पीए से पिटवाएंगे और पार्टी से निकालेंगे.

– स्वाति मालवीय तीस हजारी कोर्ट पहुंच गई हैं. थोड़ी देर में वा मजिस्ट्रेट के सामने सीआरपीसी की धारा 164 के तहत अपने बयान रिकॉर्ड करवाएंगी.

 सूत्रों ने बताया कि स्वाति मालवीय के तीस हजारी कोर्ट में सीआरपीसी की धारा 164 के तहत मजिस्ट्रेट के सामने बयान दर्ज कराए जाएंगे.

– NCW प्रमुख रेखा शर्मा का कहना है, हमने बिभव को नोटिस भेजा है, लेकिन उनकी पत्नी ने इसे स्वीकार नहीं किया, इसलिए हमने वो नोटिस उनके दरवाजे पर चिपका दिया. अगर कल तक वो पेश नहीं होंगे तो हम उनके आवास पर जाएंगे और सुनिश्चित करेंगे कि हमारी टीम उनसे मिले. मुझे उम्मीद है कि वो कल तक आएंगे.

– रेखा शर्मा ने कहा, जब हमने सोशल मीडिया पर यह देखा तो हमने स्वत: संज्ञान लिया. मैं सब कुछ करीब से देख रही थी. मैंने उनसे बाहर आकर शिकायत दर्ज कराने का अनुरोध किया. मुझे लगता है वो सदमे में थी क्योंकि कोई उम्मीद नहीं कर सकता था कि उन्हें अपने नेता के आवास पर इस तरह पीटा जाएगा. वो एक सांसद हैं जो हमेशा महिलाओं के मुद्दे उठाती रही हैं. मैंने उनसे कहा कि मैं उनके साथ हूं और आप बाहर आएं और शिकायत करें. बहुत देर तक सोचने के बाद उन्होंने शिकायत दर्ज कराई है.

विभव को पूछताछ के बाद किया जा सकता है गिरफ्तार

दिल्ली की सिविल लाइन पुलिस ने गुरुवार रात केजरीवाल के पीएम विभव के खिलाफ FIR दर्ज की. उसके बाद पुलिस की टीम विभव के घर पहुंची. हालांकि, वो वहां नहीं मिला. घर पर विभव की पत्नी थी. सूत्रों का कहना है कि मामले में विभव से पूछताछ की जाएगी और गिरफ्तार भी किया जा सकता है. जांच के दायरे में सीएम आवास पर घटना के समय मौजूद अन्य लोगों से भी आ सकते हैं. उनसे पूछताछ हो सकती है. इसके अलावा, घटनास्थल यानी सीएम आवास के सीसीटीवी फुटेज भी पुलिस कब्जे में ले सकती है.

स्वाति को चेहरे पर अंदरूनी चोटें आईं

इससे पहले गुरुवार रात स्वाति करीब चार घंटे तक दिल्ली एम्स में रहीं. रात करीब 11 बजे दिल्ली पुलिस स्वाति को लेकर एम्स पहुंची थी. मेडिकल के बाद रात करीब 3.15 बजे दिल्ली पुलिस, स्वाति को लेकर एम्स से निकली. इस दौरान स्वाति के साथ डीसीडब्ल्यू की मेंबर वंदना भी दिखाई दीं. स्वाति रात करीब 3.30 बजे अपने घर पहुंचीं. स्वाति का करीब तीन घंटे मेडिकल टेस्ट हुआ, जिसमे एक्सरे और सिटी स्कैन किया गया. स्वाति की मेडिकल रिपोर्ट आज यानी शुक्रवार आएगी. स्वाति के चेहरे पर अंदरूनी चोट आई हैं.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch