Sunday , July 21 2024

अपनी चार साल की बेटी को घर में ही जिंदा दफन कर दिया, ऐसे खुला राज़

मुरादाबाद। उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद के एक रुह को कंपा देने वाला मामला सामने आया है. एक परिवार पर अपनी चार साल की बच्ची को जिंदा ही दफन कर देने का आरोप है. पुलिस ने शव को निकाला और पोस्टमार्टम कराया. पोस्टमार्टम रिपोर्ट से साफ है उसकी मौत दम घुटने से हुई थी. पुलिस मामला दर्ज कर जांच कर रही है.

मुरादाबाद के पाकबाड़ा थाना इलाके में एक गरीब परिवार रहता है. कभी मजदूरी करते हैं तो कभी फाके के लिए मजबूर होना पड़ता है. चार बच्चे हैं लेकिन भरपेट खाना किसी के नसीब में नहीं है. जिस बच्ची की मौत हुई है वो सूखा रोग यानि कुपोषण से पीड़ित थी.

पड़ोसियों का आरोप है कि बच्ची के साथ सही सुलूक नहीं किया जाता था और अक्सर उसके खाने-पीने का भी ध्यान नहीं रखा जाता था. पड़ोसियों के मुताबिक कई बार ऐसा भी हुआ कि परिवार के लोग बच्चों को घर में बंद करके चले जाते थे और ऐसे में आस-पास के लोग उन्हों रौशनदान से खाना देते थे.

ऐसे हालात में बच्ची तारा अचानक गायब हो गई. पड़ोसियों ने परिवार से पूछा तो कहा गया कि वो रिश्तेदारी में गई है लेकिन स्थानीय लोगों का शक खत्म नहीं हुआ. उन्हें परिवार की गतिविधियां संदिग्ध लग रही थीं. उन्होंने पुलिस को सूचना दी. एएसपी अपर्णा गुप्ता ने नेतृत्व में पुलिस की एक टीम ने घर की जांच की तो एक कोने में गड्ढ़ा दिख गया. खुदाई पर बच्ची का शव भी मिल गया. पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.

अब जो पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने आई है उसके मुताबिक बच्ची की मौत दम घुटने के कारण हुई है. स्थानीय लोगों के मुताबिक मामला तंत्र-मंत्र का हो सकता है. माना जा रहा है कि बच्ची को जिंदा की दफन कर दिया गया था. एएसपी ने बताया कि मामला दर्ज कर लिया गया है और जांच की जा रही है. इससे पहले पुलिस ने मौके से शव को निकाल कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था. अब जांच में जो बातें सामने आएंगी उनके आधार पर कार्रवाई की जाएगी.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About admin