Sunday , July 14 2024

राज्यसभा उपसभापति चुनाव आज: हरिवंश Vs हरिप्रसाद, जानें किसका पलड़ा कितना भारी

नई दिल्ली। राज्यसभा में सियासी जंग की रणभेरी बज चुकी है. उच्च सदन में उपसभापति पद के लिए आज चुनाव होंगे. मोदी सरकार और विपक्ष ने अपने-अपने उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है. राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) की तरफ से जद(यू) के राज्यसभा सांसद हरिवंश नारायण सिंह जबकि पक्ष की तरफ से कांग्रेस सांसद बीके हरिप्रसाद मैदान में होंगे.

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और कांग्रेस दोनों ही जीत का दावा कर रही हैं, लेकिन बीजू जनता दल की ओर से हरिवंश सिंह का समर्थन किए जाने के ऐलान के बाद एनडीए का पक्ष मजबूत नजर आ रहा है. बता दें कि राज्यसभा में सदस्यों की मौजूदा संख्या 244 है. भाजपा के गणित के मुताबिक हरिवंश सिंह को उच्च सदन के 126 सदस्यों का समर्थन मिलने जा रहा है. वहीं विपक्ष के आंकड़े बताते हैं कि कांग्रेस के उम्मीदवार हरिप्रसाद को 111 वोट मिलने के आसार हैं.

भाजपा के दावे का आधार

हरिवंश सिंह को एनडीए के 91 सदस्यों का वोट मिलना तय है. भाजपा को उम्मीद है कि तीन मनोनित सदस्यों के अलावा समाजवादी पार्टी के राज्यसभा सांसद अमर सिंह का भी समर्थन मिलेगा. साथ ही AIADMK के 13, तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के 6,  वाईएसआर कांग्रेस के 2, और INLD के एक सदस्य का समर्थन मिलने की उम्मीद है. इन सभी को जोड़कर कुल वोट 117 हो रहे हैं. ओडिशा के मुख्यमंत्री और बीजद प्रमुख नवीन पटनायक ने भी जदयू सदस्य के समर्थन की घोषणा की है. बीजद के 9 सांसदों के समर्थन के बाद एनडीए उम्मीदवार के वोट 126 हो जाएंगे.

कांग्रेस का दावा और संख्याबल

संख्याबल के लिहाज से यूपीए के उम्मीदवार का पलड़ा हल्का नजर आ रहा है. हरिप्रसाद को कांग्रेस के 61 वोटों के अलावा तृणमूल कांग्रेस और सपा के 13-13, टीडीपी के 6, माकपा के 5, बसपा और द्रमुक के 4-4, भाकपा के दो और जेडीएस के 1 सदस्य का समर्थन मिलने की उम्मीद है. इसे जोड़ने पर यह संख्या 109 होती है. अगर एक मनोनित और एक निर्दलीय सदस्य ने भी समर्थन कर दिया तो यह संख्या 111 तक ही पहुंचती है.

वहीं आम आदमी पार्टी के अरविंद केजरीवाल ने समर्थन के लिए नीतीश कुमार के अनुरोध को ठुकराया दिया है और मतदान में हिस्सा नहीं लेने का फैसला किया है. जबकि पीडीपी की तस्वीर अभी तक साफ नहीं है.

इस बीच, संसद की कार्यवाही शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हो, इसके लिए संसदीय मामलों के मंत्री अनंत कुमार ने राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद से मुलाकात की है. नामांकन को लेकर प्रक्रिया संपन्न होने के बाद राज्यसभा में मतदान की प्रक्रिया 11 बजे सुबह शुरू होगी.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About admin