Sunday , July 14 2024

अखिलेश से राष्ट्रीय अध्यक्ष के नाते बात होती है, भतीजे के रिश्ते से नहीं : शिवपाल

लखनऊ। आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर उत्तर प्रदेश की सियासत लगातार गर्माती जा रही है. एक तरफ बीजेपी तो दूसरी तरफ तमाम विपक्षी दलों का गठजोड़ हो रहा है. महागठबंधन को लेकर अभी तक कुछ ठोस तस्वीर सामने नहीं आई है लेकिन सपा और बसपा एकसाथ मिलकर चुनाव लड़ेगी यह तय है. वैसे, कांग्रेस सूत्रों की ओर से गतदिनो कांग्रेस, सपा और बसपा के बीच गठबंधन फाइनल हो गया है.

इस बीच, सपा के दिग्गज नेता और अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल यादव ने बड़ा बयान दिया है. एक निजी कार्यक्रम में शरीक होने आए शिवपाल यादव ने वर्तमान योगी सरकार और अखिलेश यादव के साथ अपने संबंध को लेकर बयान दिया है.

अखिलेश के साथ अपने रिश्ते से जुड़े सवालों का जवाब देते हुए शिवपाल यादव ने कहा कि मेरी और अखिलेश की बातचीत जरूर होती है. लेकिन, मैं अखिलेश से पार्टी सुप्रीमो (अध्यक्ष) के रूप में बात करता हूं. हम दोनों की बातचीत चाचा और भतीजे की तरह नहीं होती है. शिवपाल यादव ने कहा कि पार्टी में हमारी हैसियत एक विधायक के रूप में है. अखिलेश पार्टी के अध्यक्ष हैं.

 

महागठबंधन से जुड़े सवालों को लेकर शिवपाल यादव ने कहा कि मैं पार्टी का एक विधायक हूं. अखिलेश पार्टी के अध्यक्ष हैं. इसलिए, गठबंधन को लेकर फैसला अखिलेश को करना है. हालांकि, उन्होंने ये जरूर कहा कि अन्य पार्टियों से बातचीत होगी और गठबंधन बनने की उम्मीद भी है. अगर, गठबंधन बन गया तो गठबंधन सफल होगा.

वर्तमान बीजेपी सरकार पर हमला बोलते हुए शिवपाल यादव ने कहा कि 4 साल हो गए. पिछले 4 सालों में मुझे कुछ दिखा नहीं है. महंगाई चरम सीमा पर पहुंच गई है. भ्रष्टाचार चरम सीमा पर है. पूरे प्रदेश के थाने बिक गए हैं. कहीं पर पुलिस अपना काम नहीं कर रही है. इसकी वजह से कानून व्यवस्था की हालत बेहद खराब है. कोई कहीं पर पिट जाता है, लूट जाता है और पुलिस कार्रवाई करने के बजाए चुपचाप रहती है. उन्होंने कहा कि गैंगरेप जैसे मामले में पैसे दिए बगैर FIR दर्ज नहीं की जाती है.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About admin