Sunday , July 14 2024

क्या बीजेपी सरकार सही समय आने पर आरक्षण खत्म कर देगी? जानें फिर पीएम मोदी ने क्या दिया जवाब

नई दिल्ली। मोदी सरकार और भारतीय जनता पार्टी पर अक्सर दलित विरोधी व आरक्षण विरोधी होने के आरोप लगते रहते हैं. मगर अब इस पर पीएम मोदी की ओर से भी स्पष्ट टिप्पणी आ गई है. समाचार एजेंसी एएनआई को दिये इंटरव्यू में पीएम मोदी ने स्पष्ट कर दिया कि आरक्षण खत्म नहीं होगा और इस पर किसी को शक करने की जरूरत नहीं है. बता दें कि पीएम मोदी ने इस इंटरव्यू में रोजगार, एनआरसी और मॉब लिंचिंग जैसे मुद्दों पर अपनी बातें रखीं.

समाचार एजेंसी ने जब सवाल किया कि जाति आधारित आरक्षण पर आपकी क्या राय है? क्या यह सही है कि आपकी सरकार आरक्षण को खत्म करने के लिए सही समय का इंतजार कर रही है?  इसके जवाब में पीएम मोदी ने कहा कि हमारे संविधान का उद्देश्य और डॉ भीमराव अंबेडकर का सपना आज भी अधूरा है. यह हम सभी की जिम्मेवारी है कि उनके सपने को पूरा करें और इसके उद्देश्य को पूरा करने के लिए आरक्षण काफी अहम औजार है. आरक्षण बना रहेगा. इसे लेकर किसी को शंका करने की जरूरत नहीं है. बाबा साहब के सपने इस देश की मजबूती हैं और हम सभी इसे पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं. हमारा मंत्र है सबका साथ, सबका विकास और इसे पूरा करने के लिए गरीबों, दलितों, आदिवासियों, पिछड़ों, अति पिछड़ों, हाशिये पर रहने वाले लोगों, जमीन से जुड़े लोगों के अधिकारों की रक्षा करना सबसे अहम है.

आगे उन्होंने कहा कि किसी भी अहम चुनाव से पहले निहित स्वार्थ वाले लोगों के समूह यह मुद्दा उठाते हैं कि बीजेपी आरक्षण को खत्म करेगी और मीडिया का एक वर्ग भी इसे बढ़ा चढ़ा कर पेश करता है. जो लोग इस बेबुनियाद खबरों को लगातार फैला रहे हैं और इसका राजनीतिकरण कर रहे हैं, वे वही लोग हैं जिन्होंने हमेशा बाबासाहेब के सपने को कुचला है. वे समाज के कमजोर वर्गों में संदेह और अविश्वास के बीज बोने की कोशिश कर रहे हैं. लेकिन, भारत के लोग बुद्धिमान हैं और वे इस प्रचार पर विश्वास नहीं करेंगे.

पीएम मोदी ने कहा कि आप पूरे भारत में देखें, सबसे ज्यादा एससी, एसटी और ओबीसी समुदाय से आने वाले सांसद भारतीय जनता पार्टी में ही हैं. सबसे अधिक एससी, एसटी और ओबीसी समुदाय से आने वाले विधायकों की संख्या बीजेपी में ही है. मैं आप सभी को उन सभी चीजों को देखने का अनुरोध करूंगा जो हमारे पूर्व प्रधान मंत्री राजीव गांधी ने मंडल आयोग के बारे में कहा था. संसद में इस कमीशन का उन्होंने पूरी तातक से विरोध किया था. आज भी उनकी पार्टी की स्थिति अलग नहीं है.

इसके अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  ने विपक्ष की ओर से रोजगार के मुद्दे पर लगातार किये जा रहे सवालों का जवाब दिया है. उन्होंने कहा कि जब भारत दुनिया की बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के बीच सबसे तेजी से विकास कर रहा है तो फिर ये कैसे कहा जा सकता है कि रोजगार के मोर्चे पर कुछ भी नहीं हो रहा है. न्यूज एजेंसी एएनआई के दिये इंटरव्यू में पीएम मोदी ने कहा, ‘जब अर्थव्यवस्था बहुत तेजी से आगे बढ़ रही है, तो फिर नौकरियों क्यों नहीं बढ़ेंगी?

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About admin