Saturday , July 20 2024

अब पटना के शेल्टर होम की दो लड़कियों की मौत पर बवाल, संचालक और सचिव गिरफ्तार

पटना। मुजफ्फरपुर बालिका गृह में शर्मनाक करतूत के बीच अब पटना के एक शेल्टर होम की दो लड़कियों की मौत की खबर है. बताया जा रहा है कि दोनों लड़कियों को पटना मेडिकल कॉलेज और अस्पताल (पीएमसीएच) में भर्ती कराया गया था, वहीं दोनों की मौत हुई. शेल्टर होम का दावा है कि दोनों लड़कियों को डायरिया की शिकायत थी. जिसकी वजह से अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

इस मामले को गंभीरता से लेते हुए पटना पुलिस ने शेल्टर होम के संचालक और सेक्रेटरी को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस अब दोनों लड़कियों का दोबारा पोस्टमार्टम कराने की तैयारी में है. जानकारी के मुताबिक मरने वाली महिलाओं में एक का नाम नोशमा है, जिसकी उम्र 30-35 साल बताई जा रही है, वहीं दूसरी महिला का नाम पूनम है, जिसकी उम्र तकरीबन 18-20 साल बताई जा रही है.

शेल्टर होम की घटना पर आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर बिहार सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड के बाद अब पटना के आसरा शेल्टर होम की दो युवतियों की मौत हुई है. शेल्टर होम ने लड़कियों की मौत की जानकारी पुलिस को नहीं दी. उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार लोकसभा सीटों के तालमेल और ब्लैकमेलिंग में व्यस्त हैं.

Tejashwi Yadav

@yadavtejashwi

मुज़फ़्फ़रपुर बालिका गृह कांड के बाद अब पटना के आसरा शेल्टर होम की दो युवतियों की मौत।

शेल्टर होम ने मौत की जानकारी पुलिस को नहीं दी।

नीतीश कुमार जी लोकसभा सीटों के तालमेल और ब्लैकमेलिंग में व्यस्त है।

नैतिकता पानी भरने बंगाल की खाड़ी के गहरे पानी में डुबकी लगा रही है।

इससे पहले तेजस्वी यादव ने मुजफ्फरपुर में बालिका गृह यौन शोषण कांड मामले में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और पुलिस पर सवाल उठाए हैं. तेजस्वी ने सवाल कहा कि पुलिस स्टेशन से चंद मिनटों की दूरी पर स्थित बालिका गृह में बच्चियों के साथ इतने वर्षों तक दुष्कर्म होता रहा तो पुलिस को इसकी जानकारी क्यों नहीं मिली?

तेजस्वी ने नीतीश कुमार से पूछा, वो बताएं कि इस मामले में दर्ज की गई एफआईआर में मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर का नाम क्यों नहीं था? और पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज करने में दो महीने का समय क्यों लगाया?

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About admin