Sunday , July 14 2024

प्रधानमंत्री आज लाल किले की प्राचीर से राष्ट्र को करेंगे संबोधित, सुरक्षा के अभेद इंतजाम

नई दिल्ली। देश आज अपनी आजादी का जश्न मना रहा है. 72वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लाल किले की प्राचीर से राष्ट्र को संबोधित करेंगे. साल 2014 में भाजपा नीत राजग के सत्ता में आने के बाद से यह उनका पांचवां संबोधन होगा. स्वतंत्रता दिवस के मौके पर दिल्ली में सुरक्षा के अभेद इंतजाम किए गए हैं. दिल्ली को इस समय छाबनी में तब्दील कर दिया गया है. धरती हो या आसमान चप्पे-चप्पे पर कड़ी नजर रखी जा रही है. पुलिस ने लाल किले के आसपास के इलाकों में स्वतंत्रता समारोह की समाप्ति तक पतंग उड़ाने पर भी रोक लगाई हुई हैं.

दिल्ली की सीमाओं को सील कर दिया गया है. मेट्रो स्टेशनों की पार्किंग को खाली करा लिया गया है. समारोह स्थल की ओर जाने वाले हर रास्ते पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं. सभी तरह के वाहनों की आवाजाही पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई है.

लालकिले पर सुरक्षा में 10 हजार पुलिसकर्मी 
दिल्ली की रखवाली में लगभग 70 हजार पुलिसकर्मी तैनात हैं. 10 हजार पुलिसकर्मी लालकिले पर सुरक्षा के लिए तैनात किए गए हैं. दिल्ली पुलिस के कर्मियों से विशेष रूप से आसमान पर नजर रखने को कहा गया है जिससे कि यह सुनिश्चित हो सके कि लालकिले के आसपास के क्षेत्रों में कोई पतंग दिखाई न दे. पिछले साल, प्रधानमंत्री जब स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्र को संबोधित कर रहे थे तो एक काली पतंग मंच के सामने आकर गिरी थी.

लालकिले के आसपास पतंग पकड़ने वालों की तैनाती की गई है. लालकिले की तरफ जाने वाली सड़कों पर 500 से अधिक तथा लालकिले के अंदर 200 से अधिक कैमरे लगाए गए हैं. दिल्ली पुलिस की स्वाट इकाई की 36 महिलाकर्मी भी तैनात होंगी. वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने बताया कि लाल किले पर सुरक्षा घेराबंदी की आतंरिक परिधि में एनएसजी के अचूक निशानेबाजों और कमांडो की टीम तैनात की गई है.  ड्रोन या प्रक्षेपण वस्तुओं के जरिए हवाई घुसपैठ के किसी भी प्रयास को विफल करने के लिए विामनभेदी तोप तैनात की गई हैं.

स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर मेट्रो का परिचालन सामान्य रहेगा. एस्कॉर्ट मुजेसर से कश्मीरी गेट की ओर चलने वाली मेट्रो सुबह साढ़े चार बजे से चलेगी ताकि लोगों को लाल किला जाने में कोई परेशानी ना हो.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About admin