Sunday , July 14 2024

सपा की दो महिला नेताओं का फर्जी अश्लील वीडियो फेसबुक पर वायरल

लखनऊ। किसी ने समाजवादी पार्टी की दो महिला नेताओं के फर्जी अश्लील वीडियो बनाकर फेसबुक और अन्य सोशल साइट्स पर वायरल कर दिया है। वायरल करने वाले ने पोस्ट डालते समय लिखा है कि ये सपा की नई अभिनेत्रियां हैं। दोनों ही नेता पार्टी में जिम्मेदार पद पर हैं।

जानकारी होने पर शनिवार देर शाम इसकी शिकायत साइबर क्राइम सेल में की गई। इनमें से एक नेता ने तीन अज्ञात लोगों के खिलाफ इटावा में केस दर्ज कराया था।  दोनों पीड़िताओं का आरोप है कि वीडियो और तस्वीर से उनका चेहरा नहीं मिलता है। लेकिन वायरल करने वाले ने उनकी पद और नाम का दुरुपयोग कर बदनाम करने की साजिश रची है।

महिला नेताओं का कहना है कि दोनों के नाम से साइबर अपराधियों ने फर्जी फेसबुक आईडी बनाई। कई अश्लील फोटो व वीडियो पोस्ट किया। इसकी शिकायत दोनों ने साइबर क्राइम सेल के नोडल अधिकारी व सीओ हजरतगंज अभय कुमार मिश्रा को बताया कि से की। बताया कि  वीडियो वायरल होने की जानकारी उन्हें पार्टी के कार्यकर्ताओं के माध्यम से मिली।

अश्लील टिप्पणियां आनी शुरू हो गईं तो पीड़िताओं ने फेसबुक प्रोफाइल बंद कर दिया। लखनऊ में रहने वाली महिला नेता गौतमपल्ली थाने मुकदमा दर्ज कराने पहुंचीं। जहां से उन्हें साइबर क्राइम सेल भेज दिया। नोडल अधिकारी ने इस मामले की जांच दरोगा राहुल राठौर को दी। फेसबुक प्रोफाइल चेक किया गया, जिसे फर्जी तरीके से बनाये जाने की पुष्टि हुई। इसके बाद साइबर सेल ने फेसबुक कंपनी से मेल कर फर्जी अकाउंट बनाने वाले के बारे में जानकारी मांगी है।

पूर्व सीएम से नहीं मिल सकीं

सपा की दोनों महिला नेताओं ने अश्लील वीडियो के संबंध में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से रविवार को मिलने का प्रयास किया। एक बैठक के चलते यह मुलाकात नहीं हो सकी। वहीं पीड़िताओं ने समाजवादी पार्टी के अन्य जिम्मेदार पदाधिकारियों से मामले की शिकायत की है। दोनों ने बदायूं के सांसद धर्मेन्द्र यादव से मुलाकात कर अश्लील वीडियो वायरल कर बदनाम करने की शिकायत की है।

अश्लील कमेंट व कॉल ने जीना किया दुश्वार

दोनों महिला नेताओं ने बताया कि अश्लील वीडियो व तस्वीर कुछ दिन पहले वायरल हुई। इसके बाद से उनके मोबाइल पर अश्लील कॉल और मैसेज आने शुरू हो गये। इसकी जानकारी पार्टी के कुछ पदाधिकारियों को दी। उन्होंने मुकदमा दर्ज कराने की सलाह दी। दोनों महिला नेताओं ने बताया कि अब तक उनके मोबाइल पर करीब एक हजार से अधिक अश्लील मैसेज आ चुके हैं। जिसमें कुछ का स्क्रीन शॉट्स पुलिस को उपलब्ध भी कराया है। वहीं साइबर सेल के नोडल अधिकारी व क्षेत्राधिकारी हजरतगंज अभय कुमार मिश्रा ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। फोटो और वीडियो वायरल करने वाले की आईपी एड्रेस पता लगाया जा रहा है। जल्द इस मामले का खुलासा हो जाएगा।
साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About admin