Monday , July 22 2024

बादशाह ने कहा कि वह अपने गानों में कभी भी महिलाओं को एक वस्तु की तरह नहीं परोसेंगे

लोकप्रिय रैपर बादशाह ने कहा कि वह अपने गानों में कभी भी महिलाओं को एक वस्तु की तरह नहीं परोसेंगे और उनका मानना है कि सेंसरशिप व्यक्तिपरक है। 32 वर्षीय रैपर ने कहा कि वह अक्सर अपने गानों में थोड़ी छूट लेते हैं लेकिन उन्होंने कभी भी किसी की भावनाओं को आहत नहीं किया।बादशाह ने एक मशहूर रेडियो चैनल का यहां शुभारंभ करते हुए पत्रकारों से कहा, ”सेंसरशिप व्यक्तिपरक है क्योंकि कुछ लोग कुछ चीज पसंद करते होंगे जबकि अन्य नहीं या कुछ यह मानते हैं कि कुछ गलत है लेकिन मैं ऐसा नहीं मानता होऊंगा। मैं ऐसे परिवार से हूं जहां मेरी मां है, बहन है, पत्नी है और एक बेटी है, मैं कभी भी ऐसे इंसान को वस्तु की तरह नहीं पेश करूंगा जो मुझे पालता है, मेरी रक्षा करता है या मुझे प्यार करता है।”

उन्होंने कहा, ”मैंने कभी भी जानबूझकर किसी की भावनाओं को आहत नहीं किया, हां, मैंने संगीत में कुछ छूट ली और कुछ हंसी-मजाक किया जो मेरे दोस्त भी करते हैं। मुझे लगता है कि मैं एक तरह से पारिवारिक रैपर हूं, बॉलीवुड में भाई-भतीजावाद को लेकर चल रही चर्चा के बीच बादशाह ने इसे बेकार बताते हुए कहा कि प्रतिभा हमेशा किसी भी स्थिति में सामने आती है।

कश्मीर के बारे में बादशाह ने कहा कि हालांकि कोई भी जगह 100 फीसदी सुरक्षित नहीं है लेकिन घाटी को अच्छे जनसंपर्क की जरूरत है। उन्होंने कहा, ”कश्मीर को अच्छे जनसंपर्क की जरूरत है, कश्मीर खूबसूरत है, लोग अच्छे हैं और माहौल भी अच्छा है। लोग कहते हैं कि यहां हिंसा है लेकिन कृपया उत्तर प्रदेश और बिहार जाओ वहां भी हिंसा है।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About admin