Sunday , April 14 2024

क्या कश्मीर सही से हैंडल नहीं कर पाए? बोले मोदी, अलगाववादियों से नरमी देशहित में नहीं

नई दिल्ली।  लोकसभा चुनाव से ठीक पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एबीपी न्यूज से रूबरू हुए. एबीपी न्यूज को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में पीएम मोदी ने कश्मीर की मौजूदा स्थिति और विकास पर खास बातचीत की. एबीपी न्यूज़ ने पीएम मोदी से पूछा, ”प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अगर अपने नाम के पहले लगने वाले शब्द प्रधानमंत्री को हटा दें. उसके बाद जब अकेले में कभी सोचते हैं तो उनको क्या लगता है कि कश्मीर को बेहतर ढंग से हैंडल किया जा सकता था और नरेंद्र मोदी सरकार या नरेंद्र मोदी उस काम को नहीं कर पाए.”

इस सवाल के जवाब में पीएम मोदी ने कहा, ” एक तो आपका सवाल बहुत लोडेड है. आपने खुद न्यायधीश बनकर आरोप भी लगा दिया. जजमेंट भी दे दिया लेकिन आपको शायद पता नहीं होगा. मैं बहुत सालों तक पंजाब में रहा जब यहां आतंकवाद चरम सीमा पर था मैं उस समय यहां पार्टी के संगठन का काम करता था. मैंने यहां के हर ब्ल़ॉक में बस में बैठकर के दौरा किया है. मैं उसकी बारीकियों को जानता हूं. जब हम जम्मू कश्मीर की बात करते हैं तो हमें लद्दाख, श्रीनगर वैली और जम्मू सबकी चर्चा करनी चाहिए.

पीएम मोदी ने कहा, ”आप देखिए जो घटनाएं पहले होती थीं. उसमें बहुत कमी आई है. जो विकास रुका हुआ था वो बहुत तेज गति से आगे बढ़ रहा है. आपको जानकर खुशी होगी कि आज जम्मू कश्मीर के हर घर में बिजली पहुंच गई. ये बड़े गर्व की बात है. हम वहां पर शौचालय बनाने में पूरी तरह सफल हो गए. वहां के सब जिले खुले में शौच मुक्त घोषित हो चुके हैं. एक के बाद एक काम हो रहे हैं.

जम्मू कश्मीर में विकास की चर्चा करते हुए पीएम मोदी ने कहा, ”आज वहां आर्थिक प्रगति हो रही है, एक्सपोर्ट बढ़ रहा है. वहां के सेब पूरे हिंदुस्तान में जा रहे हैं. कृषि क्षेत्र में बहुत बड़ा बदलाव आ रहा है. खादी जैसा क्षेत्र जो बिल्कुल गड्ढे में गया था उसको भी हमने वहां रिवाइव कर दिया है. इसलिए जम्मू कश्मीर की प्रगति और टूरिज्म बढ़ रहा है. पहले की तुलना अब ज्यादा तेजी से बढ़ रहा है. अमरनाथ यात्रियों की संख्या बढ़ रही है. वैष्णो देवी यात्रियों की संख्या बढ़ रही है.

पीएम मोदी ने कहा, ”हमने जम्मू कश्मीर में बहुत बड़े-बड़े एजुकेशनल इंस्टीट्यूट बनाए. उन्होंने कहा कि स्पोर्ट्स जम्मू कश्मीर का एक बहुत बड़ा टैलेंट है जिस पर देश को गर्व करना चाहिए. वहां बच्चे स्पोर्ट्स में बहुत ही काबिल हैं. हमने स्पोर्ट्स में उनको बहुत बढ़ावा दिया है और कश्मीर के बच्चों ने हाल ही में बंगाल की मशहूर फुटबॉल टीम को हराया है. ये बदलाव है. मुझे बहुत संतोष है कि हम सही दिशा में चले हैं. सही दिशा में जा रहे हैं. हां सेपेरेटिस्टों के प्रति नरमी बरतकर के अब देश को लाभ नहीं होगा.

सवाल : अगर आप सत्ता में वापस लौटते हैं तो हुर्रियत जैसे संगठनों को और कड़ाई से कानूनों का सामना करना पड़ेगा.

इस सवाल के जवाब में नरेंद्र मोदी ने कहा, ”हमने एक के बाद एक कदम उठाए हैं क्योंकि आप देखिए जम्मू, लद्दाख, श्रीनगर उसमें भी एक दो जिले हैं जहां ये हरकतें चल रही हैं. बाकी सब जगह पर सामान्य हालात हैं तो हम उस प्रकार की व्यूह रचना करके आगे बढ़ेंगे जो आगे बढ़ना चाहते हैं. उनको अवसर देंगे. पीएम ने कहा कि अटल जी का जो सिद्धांत है. जम्हूरियत, कश्मीरियत इंसानियत इन तीन मुद्दों पर ही हम चल रहे हैं और चलेंगे.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch