Monday , April 15 2024

मंच पर मौजूद इस कांग्रेसी को BJP की रीढ़ की हड्डी बता बैठे शत्रुघ्न सिन्हा

नई दिल्ली। बीजेपी से लंबे वक्त का रिश्ता खत्म कर मशहूर अभिनेता और सांसद शत्रुघ्न सिन्हा शनिवार को कांग्रेस में शामिल हो गए. शत्रुघ्न सिन्हा शामिल तो हो रहे थे कांग्रेस में लेकिन बीजेपी से उनका मोह जाता नहीं दिख रहा था. शत्रुघ्न सिन्हा जब मंच पर मौजूद कांग्रेस नेताओं को धन्यवाद दे रहे थे तो उन्होंने कांग्रेस नेता शक्ति सिंह गोहिल को बीजेपी की रीढ़ की हड्डी बता दिया.

शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि वे शक्ति सिंह गोहिल का आभार जताना चाहेंगे जो कि गुजरात और बिहार में भारतीय जनता पार्टी के बैकबोन हैं…इतना कहकर शत्रुघ्न सिन्हा आगे बढ़ ही रहे थे कि मंच पर मौजूद कांग्रेस नेताओं ने उन्हें टोका और शॉटगन को उनकी गलती याद दिलाई. गोहिल मंच पर ही सिन्हा के बगल में बैठे थे.

इस पर शत्रुघ्न सिन्हा ने मौके को संभालते हुए कहा कि वे अभी कांग्रेस में नए-नए हैं और आज बीजेपी का स्थापना दिवस भी है इसलिए ऐसी गलतियां हो रही है. शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा, “वो तो थोड़ा आएगा न…भारतीय जनता पार्टी का स्थापना दिवस है…स्थापना दिवस है…नया खिलाड़ी हूं…तो थोड़ा-थोड़ा कभी-कभी हो ही जाएगा…आप सभी इतने परिपक्व हैं कि ये समझ जाएंगे…ये जानबूझकर नहीं किया है…”

शत्रुघ्न सिन्हा इस मौके पर आडवाणी को लेकर भावुक दिखे और मोदी-अमित शाह की जोड़ी को खूब खरी खोटी सुनाया. बीजेपी में आए बदलावों को रेखांकित करते हुए शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि ये पार्टी अब वन मैन शो और टू मैन आर्मी बनकर रह गई है. शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि आडवाणी जी ने ब्लॉग लिखा, सोचिए उन्हें कितना दर्द हुआ होगा. उन्होंने कहा कि यशवंत सिन्हा को इतना मजबूर किया गया कि उन्होंने पार्टी ही छोड़ दी.

डॉ मुरली मनोहर जोशी, अरूण शौरी का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि बीजेपी के मौजूदा नेतृत्व ने कभी संवाद को तवज्जो नहीं दी. उन्होंने कहा कि नोटबंदी और जीएसटी जैसे अव्यवहारिक फैसले लागू किए गए और जब उन्होंने इनपर सवाल पूछा तो उन्हें बागी कहा गया. शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि अगर सच कहना बगावत है तो समझिए कि वो भी बागी हैं.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch