Saturday , April 20 2024

IPL-12: धोनी-डू प्लेसिस के बाद भज्जी का धमाका, चेन्नई ने लगाया जीत का चौका

धोनी की चेन्नई टीम पिछली हार को भुलाते हुए फिर से विजयपथ पर लौट आई है. उसने शनिवार (6 अप्रैल) को पंजाब की किंग्स इलेवन को 22 रन से हराया. यह चेन्नई टीम की इंडियन टी20 लीग (आईपीएल-2019) के 12वें सीजन में चौथी जीत है. वह मौजूदा सीजन (IPL-12) में चार जीत दर्ज करने वाली पहली टीम बन गई है. धोनी की कप्तानी वाली इस टीम ने सीजन के पहले तीन मैच जीते थे. इसके बाद उसे चौथे मैच में मुंबई की टीम के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था.

चेन्नई के सुपर किंग्स (Super Kings) ने शनिवार को एमए. चिदंबरम स्टेडियम में खेले गए मैच में पंजाब के खिलाफ 20 ओवरों में तीन विकेट के नुकसान पर 160 रन बनाए. पिच पर स्पिनरों के लिए मदद मौजूद थी. चेन्नई के स्पिनरों ने इसका फायदा उठाया और पंजाब (Kings XI) के किंग्स को पांच विकेट पर 138 रन पर ही रोक दिया. इसके साथ ही पंजाब की चौथी जीत का इंतजार बढ़ गया है. यह आईपीएल-12 में उसकी दूसरी हार है. वह तीन मैच जीत चुकी है.

मेजबान चेन्नई ने शनिवार को टॉस जीतकर पहले बैटिंग की. ओपनर फाफु डू प्लेसिस (54) और शेन वाटसन (26) ने अपनी टीम को पहले विकेट के लिए 56 रन की साझेदारी की. इस स्कोर पर वाटसन, ऑफ स्पिनर अश्विन का पहला शिकार बने. इस सीजन का अपना पहला आईपीएल मैच खेल रहे डू प्लेसिस ने दूसरे छोर से अर्धशतक पूरा किया. डू प्लेसिस का विकेट 100 रन पर गिरा. इसकी अगली ही गेंद पर सुरेश रैना (17) भी आउट हो गए.

इसके बाद चेन्नई का बड़ा स्कोर तक पहुंचना मुश्किल लग रहा था. लेकिन कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) और अंबाती रायडू (Ambati Rayudu) ने चौथे विकेट के लिए 60 रन जोड़कर टीम को मजबूत स्कोर तक पहुंचा दिया. धोनी ने 23 गेंदों पर नाबाद 37 रन की पारी खेली. रायडू ने 15 गेंदों पर नाबाद 21 रन बनाए. पंजाब की ओर से उसके कप्तान रविचंद्रन अश्विन ने सबसे अधिक तीन विकेट लिए.

harabhajan
हरभजन सिंह (दाएं) का स्पेल 4-1-17-2 रहा. भज्जी के विकेट लेने पर सुरेश रैना उनसे यूं गले मिले. (फोटो: PTI)

161 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी पंजाब की शुरुआत खराब रही. उसके ओपनर क्रिस गेल 5 रन बनाकर और तीसरे नंबर पर आए मयंक अग्रवाल बिना खाता खोले ही आउट हो गए. इन दोनों को ही चेन्नई टीम के पंजाबी स्पिनर हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) ने आउट किया. इसके बाद केएल राहुल (55 रन, 47 गेंद) और सरफराज खान (67 रन, 59 गेंद) ने टीम को संभाला. इन दोनों ने 110 रन की साझेदारी कर टीम का स्कोर 117 तक पहुंचाया.

एक समय पंजाब की टीम जीत की ओर बढ़ रही थी. उसे अंतिम 18 गेंद पर 46 रन बनाने थे और उसके आठ विकेट बाकी थे. केएल राहुल और सरफराज खान क्रीज पर मौजूद थे. 18वीं ओवर की पहली दो गेंद पर दो रन बने. इसके बाद केएल राहुल आउट हो गए. अब पंजाब को 15 गेंद पर 46 रन चाहिए थे. टीम यह दबाव नहीं झेल पाई और लड़खड़ा गई. जब मैच खत्म हुआ तब पंजाब की टीम के विकेट तो पांच बाकी थे, लेकिन वह लक्ष्य से 22 रन दूर खड़ी थी.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch