Tuesday , April 16 2024

IPL 2019: वार्नर के साथ खूब चमके बेयरस्टॉ, पर जीत का सेहरा गेंदबाजों के सिर बांधा

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 12वें सीजन में जब हैदराबाद की टीम के सामने अपने ही घर में चेन्नई को हराने की चुनौती थी, तब केन विलियमसन के लिए यह काम आसान नहीं था, लेकिन अपने गेंदबाजों के बढ़िया काम के बाद जॉनी बेयरस्टॉ ने डेविड वार्नर के साथ मिलकर टीम की जीत आसान बना दी. जीत के बाद अंत तक नाबाद रहे बेयरस्टॉ ने अपनी टीम की जीत का श्रेय गेंदबाजों को दिया.

वार्नर ने पलट दिया मैच
इस मैच में चेन्नई के दिए 133 रनों का पीछा कर॓॓ते हुए डेविड वार्नर और जॉनी बेयरस्टॉ ने तेजी से रन बनाए और शुरुआत में ही मैच एकतरफा कर दिया. मैच के बाद बेयरस्टॉ ने कहा, “हमें एक बहुत अच्छी टीम मिली है. इस जीत का श्रेय गेंदबाजों को जाता है, जिन्होंने आखिरी के 11 ओवर में उन्हें 60-65 रन के अंदर सीमित रखा.” बेयरस्टॉ ने इस मैच में 44 गेदों में 61 रनों की नाबाद पारी खेली.

Warner Bairstow

धोनी के इस मैच में न उतरने की खबर से विलियमसन ने जरूर राहत की सांस ली होगी. विलियमसन का अंदाजा सही भी साबित हुआ. विलियमसन इसके बाद भी पूरी तैयारी से आए और खेल के हर विभाग में चेन्नई को मात दी. टॉस हारने के बाद गेंदबाजी करने उतरी हैदराबाद की टीम ने शुरू से ही चेन्नई पर दबाव बनाए रखा और शेन वाटसन और फाफ डु प्लेसिस को खुल कर खेलने नहीं दिया. इसी वजह से पहले पॉवर प्ले में केवल 41 रन ही बन सके.

बोलर्स का दबाव  काम आया
हैदराबाद के गेंदबाजों का यह दबाव आखिर काम आया.  भुवी, संदीप शर्मा और राशिद खान की कसी हुई गेंदबाजी के आगे चेन्नई के बल्लेबाज केवल 132 रन ही बना सके. पिच को देखते हुए 133 रनों के लक्ष्य का पीछा करना मुश्किल भी हो सकता था, लेकिन डेविड वार्नर ने पूरा माहौल बदलते हुए 25 गेंदों पर ताबतोड़ 50 रन ठोक दिए और मैच एकतरफा कर दिया.

ऐसे खुशी जताई बेयरस्टॉ ने
पहले छह ओवर में 68 रन बनने के बाद जॉनी बेयरस्टॉ ने अपनी बल्लेबाजी जारी रखी और रनों की रफ्तार तेज रखने के चक्कर में विलियमसन, विजय शंकर, दीपक हुड्डा जल्दी ही आउट हो गए. बेयरस्टॉ ने अंत तक क्रीज पर रह कर टीम की जीत 17वें ओवर में सुनिश्चित कर दी. बेयरस्टो ने कहा, “ऑरेंज आर्मी (घरेलू दर्शकों) के सामने खेलना बेहद खुशी की बात है. यकीन नहीं हो रहा है कि क्या हुआ, लेकिन मुझे लगता है कि आज हम अधिक तैयारी में थे. नेट में नेट के बाहर मैच में राशिद (खान) का सामना करना चुनौतीपूर्ण है.”

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch